खुश खबर...महीनों बाद संक्रमित मात्र 2...रिकवरी दर 99 प्रतिशत

कोरोना सैंपलिंग पर नहीं वैक्सीनेशन पर ध्यान, इसलिए घट रहे केस

By: Narendra

Published: 28 Jan 2021, 08:53 PM IST

सीकर. सीकर में गुरुवार को कोरोना के नए मामलों में रेकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई। पिछले कुछ दिनों से कोरोना के नए मरीज आ ही नहीं या फिर उनकी संख्या बेहद कम हैं। गुरवार को जिले में मात्र दो नए मरीज मिले। इधर, रिकवरी रेट भी 99 प्रतिशत तक पहुंच गई है।


सीकर ही नहीं इन 16 जिलों में भी कोई नया मरीज नहीं मिला
बारां, भरतपुर, बीकानेर, बूंदी, चित्तौडगढ़़, चूरू, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, हनुमानगढ़,जैसलमेर, जालोर, झुंझुनूं, सवाईमाधोपुर, सिरोही और टोंक जिले में एक भी नया मामला नहीं मिला है।
तीन महीने में आधी हो गई कोरोना की जांच, चिकित्सा विभाग के अफसर बोले, लोगों में कोरोना का भय गायब
जिले में इन दिनों कोरोना के नए संक्रमितों की संख्या लगातार घट रही है। दस महीने पहले जहां थे, आज वहीं पहुंच गए हैं। बीते सात दिन का आंकड़ा देखे तो, संख्या महज इकाई में दर्ज की जा सकती है। इसका श्रेय चिकित्सा विभाग के अफसर प्रशासन की सख्ती और निरंतर मॉनिटरिंग को दे रहे हैं, जबकि असलियत यह है कि कोरोना की जांचें ही कम हो रही हैं। सैंपलिंग में टीमें कम कर स्टाफ को वैक्सीनेशन में लगा दिया, ऐसे में गत महीने की तुलना में आधे ही सैंपल लिए जा रहे हंै। सीकर जिले में दिसंबर के शुरुआत में जहां नए संक्रमितों की संख्या 100 पार कर गई थी, जो अब महज 4 से 5 के बीच स्थिर हो गई है। पत्रिका पड़ताल में सामने आया कि नवंबर माह में जहां जिले में रोजाना 300 से 800 सैंपल लिए जा रहे थे तो केस 50 से 80 तक आ रहे थे। दिसंबर में सैंपलिंग घटकर 200 से 300 तक हो गई तो केस भी घट गए। इससे साफ है कि जैसे-जैसे कोरोना की जांचें घटी है, वैसे ही नए संक्रमितों की संख्या भी कम हो गई है। ऐसे में आमजन को अभी भी कोरोना से पूरी सावधानी बरतने की जरूरत है, लापरवाही नुकसानदायक साबित हो सकती है। जिले में अभी साढ़े पांच सौ से ज्यादा एक्टिव केस हैं। यह आंकड़ा प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में सर्वाधिक है।


चिकित्सा विभाग का कहना है लोग नहीं करवा रहे जांच
सीकर चिकित्सा विभाग के अनुसार जिले में लगातार कोरोना की जांचें हो रही है , हालांकि संख्या कम हो रही है। लोग जांच करवाने नहीं आ रहे हैं। इसलिए टीमें कम की गई है और स्टाफ को डिस्पेंसरी में जांच करने के निर्देश दिए हैं।

Narendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned