डेंगू है या कोई और वायरस...कंफ्यूज!

खतरनाक बुखार डेंगू की जांच में प्लेटलेट्स पूरी लेकिन कार्ड टेस्ट पॉजीटिव। सुनने में भले ही अजीब लगे लेकिन पिछले एक सप्ताह से जिला लैब में इस प्रकार के मरीजों की रिपोर्ट सामने आ रही है। जिले में इस बार डेंगू से मिलता जुलता वायरस लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है।

सीकर. खतरनाक बुखार डेंगू की जांच में प्लेटलेट्स पूरी लेकिन कार्ड टेस्ट पॉजीटिव। सुनने में भले ही अजीब लगे लेकिन पिछले एक सप्ताह से जिला लैब में इस प्रकार के मरीजों की रिपोर्ट सामने आ रही है। जिले में इस बार डेंगू से मिलता जुलता वायरस लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। जिससे अस्पताल के चिकित्सक भी उपचार को लेकर पशोपेश में हैं। चिकित्सकों की माने तो कई मरीजों की रिपोर्ट को देखकर संशय हो रहा है। जिससे मरीज को दोबारा जांच के लिए भेजना पड़ रहा है। जिला लैब में पिछले 7 दिन में 954 लोगों में डेंगू के लक्षण मिले हैं लेकिन रिपोर्ट नेगेटिव है। वहीं जिन मरीजों में डेंगू के लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आ रही है। एेसे में रिपोर्ट को लेकर भी मरीजों में संशय की स्थिति है। गौरतलब है कि प्रदेश में ४१२१ और सीकर जिले में डेंगू के १८९ मरीज सामने आ चुके हैं।

यूं बदला स्ट्रेन

चिकित्सकों ने बताया कि स्वाइन फ्लू की तरह डेंगू का स्ट्रेन बदलने का अंदेशा है। यहां तक की लीवर मेंं सूजन और लगातार प्लेटलेट्स गिरने पर मरीज की जांच रिपोर्ट नेगेटिव मिल रही है। लैब में पिछले सात दिन 23 फीसदी ही पॉजिटिव पाए गए। इधर इन मरीजों में प्लेटलेट्स एक लाख से पौने तीन लाख के बीच आई है। जबकि प्रांरभिक तौर पर प्लेटलेट्स का गिरना ही डेंगू का लक्षण हो सकता। यह भी संभव है कि कोई दूसरा वायरस हो।

आयरन लगाता है ब्रेक

हाल में अमेरिका में हुए शोध के अनुसार खून में आयरन की कमी वाले लोगों में डेंगू का खतरा अधिक होता है। लोह तत्व का सेवन करने वाले रोगी में इसके प्रसार को रोका जा सकता है। पहले डेंगू के रोगी के शरीर पर रेशेज नजर आते थे लेकिन इस बार एेसा नहीं हो रहा है। जिससे अधिकांश चिकित्सक डेंगू लाइक इलनेस के आधार पर उपचार करते हैं।

नांगल में पहला डेंगू रोगी

नांगल में डेंगू बुखार का एक मामला सामने आया है। ग्राम की सुनीता चौधरी 23 साल पुत्री जगदीश प्रसाद की जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। जगदीश प्रसाद ने बताया कि उनकी बेटी को तीन दिन से बुखार आ रहा था,उसको इलाज के लिए चौमू के एक निजी अस्पताल में पुष्टि हुई। वहीं नांगल में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत डॉ. सोफिया गोदारा ने बताया कि अभी डेंगू का कोई मरीज मेरी जानकारी में नही आया है। एएनएम व आशा को भी विशेष हिदायत दे रखी है कि वे मौसमी वायरल बुखार के रोगियों की भी पूरी जानकारी रखें ,और जिस डेंगू रोगी की जानकारी मिली है वे मेरे पास अस्पताल में नही आये है वे सीधे ही किसी निजी अस्पताल में गए हैं।

ढाणी झगड़ेत में भी प्रकोप

चला क्षेत्र में इन दिनों मौसमी बिमारियों के प्रकोप के साथ साथ डेंगू ने भी दस्तक दे दी है। ग्राम पंचायत डेहरा जोहड़ी की ढाणी झगड़ेत में डेंगू का रोगी मिलने से हडकम्प मचा हुआ है। ढाणी झगडेत में अनील सैनी पुत्र बाबूलाल सैनी को हल्का बुखार आने से उसे गुहाला के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती करवाया गया जहां चिकित्सको की दवाई से आराम नहीं आया तो उसे गंभीर स्थिति में नीमकाथाना भर्ती करवाया जहां जांच में डेंगू पॉजिटिव कायम किया गया। लगातार गिरने प्लेटलेट के कारण परिजनों ने उसे नीमकाथाना से जयपुर ले गये। जहां उसका तीन दिन से मरूधरा अस्पताल जयपुर में इलाज चल रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned