39 लाख से भरे ATM को उखाड़ने वाला हिस्ट्रीशीटर हथियारों के साथ गिरफ्तार

पिछले महीने जयपुर ग्रामीण क्षेत्र के दातिल गांव में एसबीआइ एटीएम उखाड़ कर ले जाने वाले मास्टर माइंड व हिस्ट्रीशीटर मक्खन मीणा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

By: Vinod Chauhan

Updated: 23 Apr 2019, 06:53 PM IST

सीकर/अजीतगढ़.

पिछले महीने जयपुर Jaipur ग्रामीण क्षेत्र के दातिल गांव में एसबीआइ एटीएम SbI ATM उखाड़ कर ले जाने वाले मास्टर माइंड व हिस्ट्रीशीटर मक्खन मीणा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा गैंग में शामिल उसके एक साथी बालकिशन उर्फ भालू को हथियार के साथ दबोचा है। हालांकि दोनों से एटीएम में रखे 39 लाख रुपए पुलिस बरामद नहीं कर पाई। यह राशि एटीएम लूटने के बाद गैंग के सदस्यों ने आपस में बांटकर खपा दी थी। पुलिस के अनुसार डिग्गी मंदिर डकैती और हत्या के मामले में मक्खन मीणा को 17 साल की सजा हो गई थी। जिसको काटकर तीन साल पहले ही वह जेल से बाहर आया था। इसके बाद वह डकैती को उसने अपना पेशा बना लिया और आठ मार्च 2019 को फिर 39 से भरा एटीएम लूट ले गया। सोमवार को अजीतगढ़ पुलिस को सूचना मिली कि 8 मार्च 2019 की रात जीप में डालकर एटीएम लूटने वाला मक्खन उर्फ मखनिया अपने एक साथी के साथ क्षेत्र में घूम रहा है। अजीतगढ़ थानाधिकारी सवाई सिंह तंवर ने बताया कि पुलिस अधीक्षक डा. अमनदीप सिंह कपूर के निर्देश पर टीम का गठन कर सांवलपुरा शेखावतान निवासी मक्खन व ढाणी नोलखा के बालकिशन को घेराबंदी कर दबोच लिया गया। इनके पास मौके से पुलिस को देशी कट्टा व जिंदा कारतूस भी बरामद किया है। पुलिस इनसे पूछताछ कर बाकी के साथियों के बारे में पता लगा रही है। नीमकाथाना डीवाइएसपी रामअवतार सोनी के तहत आरोपी मक्खन मीणा डकैती, चोरी व नकबजनी का आदि है। मारपीट व हत्या समेत इस पर डेढ़ दर्जन मुकदमों में चालान है। आरोपी ने अपने साथी बीरबल, रामजीलाल, पूर्ण, पप्पू, बालकिशन आदि के साथ 19 फरवरी 2019 को त्रिलोकपुरा गांव में मंदिर में चोरी करना भी कबूला है। इसके अलावा जयपाल, सुरेश के साथ मिलकर मऊ गांव में एक महिला के हाथ पैर बांध कर जेवरात चोरी करना बताया है।


कुएं में डालने के दिए 15 हजार
एटीएम को लूटने के बाद आरोपियों ने इसमें रखे 39 लाख रुपए अपने आठ-नौ साथियों में सवा चार-चार लाख आपस में बांट लिए थे। जिनसे किसी ने ट्रेक्टर फाइनेंस, उधारी सहित बाकी कामों में खर्च कर दिए थे। हालांकि इससे पहले एटीएम से रुपए निकालने के बाद इन्होंने खाली एटीएम को कुंए में डालने के लिए एक सख्स को 15 हजार रुपए अलग से दिए थे। ताकि पुलिस को एटीएम के बारे में सबूत हाथ नहीं लग सके। लेकिन, पकड़े जाने पर डकैती का खुलासा हो गया। नीमकाथाना के एएसपी दिनेश अग्रवाल के अनुसार आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड मांगा जाएगा।

Show More
Vinod Chauhan Zonal Head
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned