18 साल से दुबई काम करने वाले युवक ने कहा जल्द आ रहा हूं भारत, अब पांच महीने से लापता

दुबई में 18 सालों से काम कर रहा युवक पांच माह से लापता है। परिवार की 19 जनवरी को फोन पर आखिरी बार बात हुई। उसने जल्द ही भारत लौटने की बात कहीं थी। अब युवक का नंबर भी बंद है। उसका कहीं कुछ अता पता नहीं है।

By: Sachin

Published: 30 Jun 2020, 10:42 AM IST

सीकर. दुबई में 18 सालों से काम कर रहा युवक पांच माह से लापता है। परिवार की 19 जनवरी को फोन पर आखिरी बार बात हुई। उसने जल्द ही भारत लौटने की बात कहीं थी। अब युवक का नंबर भी बंद है। उसका कहीं कुछ अता पता नहीं है। परिजनों ने केंद्र व राज्य सरकार को पत्र लिख कर युवक को घर वापस लाने की गुहार लगाई है। राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ में रामगढ़ कस्बे के वार्ड 17 में हीरा लाल रैगर का परिवार रहता है। वे पिछले 18 वर्षों से दुबई में आबू धाबी की अल जब्बार ट्रांसपोर्ट एंड जनरल कंस्ट्रशनिंग में काम कर रहे थे। दो साल से वे दुबई में ही काम कर रहे थे। हीरालाल की पत्नी सरस्वती देवी ने बताया कि 19 जनवरी को पति से आखिरी बार फोन पर बात हुई थी। उन्होंने परेशानी की बात कहीं। साथ फोन ब्लॉक होने की बात कहीं। साथ ही आईडी बंद करवाने को कहा। उन्होंने तीन-चार दिन में कंपनी से हिसाब कर गांव लौटने की बात कहीं। तब से अब तक उनका कुछ पता नहीं लग सका है। उन्होंने भारतीय एंबेसी को भी पत्र लिखा। सरस्वती देवी ने विदेश मंत्री को पत्र लिखकर पति के वतन वापसी की गुहार लगाई है। उन्होंने बताया कि 19 जनवरी को बात होने के बाद 20 जनवरी को फोन किया। तब से उसका मोबाइल बंद आया। कई दिनों तक संपर्क नहीं हुआ तो उन्होंने आबू धाबी कंपनी में संपर्क किया। वहां से कोई संतुष्टि का जवाब नहीं मिला। उन्होंने हीरालाल के साथ रहने वाले लोगों से भी पूछताछ की। कुछ पता नहीं लगा। इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय, विधायक वीरेंद्र सिंह, सांसद सुमेधानंद सरस्वती व जिला कलेक्टर को भी पत्र लिखकर युवक की वतन वापसी की कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि विदेश मंत्रालय से जवाब में पत्र भी मिला है लेकिन उसमें कोई संतुष्टि का जवाब नहीं था।


युवक का वीजा भी हो चुका था खत्म

हीरा लाल रैगर का वीजा भी जनवरी में ही खत्म हो चुका था। वह जल्द भारत आना चाहता था। उनकी 22 साल पहले शादी हुई थी। शादी के बाद से ही वह दुबई में काम करने लगे। उसकी दो बेटी और एक बेटा है। पांच महीने से कंपनी ने हिसाब नहीं किया। वे हर महीने परिजनों को रुपए भिजवाते थे। उन्होंने कई बार फोन बंद करने की बात कहीं थी।

कई बार दूतावास को लिखा पत्र


पांच माह से युवक से संपर्क नहीं होने के कारण हीरा लाल रैगर की पत्नी ने सरस्वती देवी ने कई बार एंबेसी व सीएमओ को पत्र लिखे। भतीजी माया ने बताया कि दुबई में कई रिश्तेदारों से भी पता किया। उन्होंने दुबई में रिपोर्ट करवाई। उनकी मोबाइल नंबर के लोकेशन 240 किलोमीटर दूर निकली। वहां से उनका फोन बंद है। उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned