पाकिस्तानी चाल पर खूफिया एजेंसी ने राजस्थान के सभी विभागों को किया अलर्ट

(Intelligence agency alerts all departments of Rajasthan on Pakistan's move) सीकर. पाकिस्तान की चाल को लेकर प्रदेश चौकन्ना हो गया है।

By: Sachin

Published: 26 Jun 2020, 03:12 PM IST

(Intelligence agency alerts all departments of Rajasthan on Pakistan's move) सीकर. पाकिस्तान की चाल को लेकर प्रदेश चौकन्ना हो गया है। पाकिस्तानी खूफिया एजेंसी के लोगों की ओर से फोन व मेल के माध्यम से देश की सुरक्षा से संबंधित जानकारी एकत्र करने के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए एडीजीपी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा की ओर से प्रदेश में एडवायजरी जारी की गई है। सभी सरकारी अधिकारियों, सुरक्षा से जुड़े लोगों व बड़े प्रतिष्ठानों के लिए जारी की गई एडवायजरी में सेना व सुरक्षा संबंधी किसी भी तरह की जानकारी फोन पर नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं। इस तरह का कोई भी प्रयास सामने आने पर स्थानीय पुलिस थाने के साथ इंटेलिजेंस को भी सूचना देनी होगी। इंटेलिजेंस तकनीकी आधार पर मामले की जांच करेगी।

हर वर्ष सामने आ रहे चार मामले


पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की इस तरह की करतूत के प्रदेश में हर वर्ष औसतन चार मामले सामने आ रहे हैं। हाल ही में श्रीगंगानगर के बॉर्डर होमगार्ड कार्यालय में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लोगों ने सैना का मेजर बनकर फोन किया। इंटेलिजेंस के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लोगों ने पहले फर्जी मेल आइडी बनाकर सूचना के लिए मेल किया था। बाद में मेजर बनकर फोन पर सूचना की मेल भेजने के लिए कहा, लेकिन केन्द्रीय इंटेलिजेंस ने इस फोन को टे्रस कर लिया तो फोन पाकिस्तान से आना पाया गया। गत माह सूरतगढ़ के स्टेशन मास्टर को फोन कर सेना की रेल से आवागमन की जानकारी मांगी गई थी।


सैन्य अधिकारी बन करते हैं कॉल

इंटेलिजेंस की ओर से जारी एडवायजरी में कहा गया है कि पाकिस्तानी खुफिया कार्मिकों की ओर से स्वयं को भारतीय रक्षा, खुफिया व केन्द्रीय सशस्त्र बल का अधिकारी बताकर फर्जी नंबरों का उपयोग करते हुए संवेदनशील एवं सामरिक महत्व की सूचना को एकत्र करने के लिए विभिन्न रक्षा व केन्द्रीय सशस्त्र बलों व संवेदनशील संगठनों को कॉल किए जा रहे हैं। जानकारी प्राप्त करने के लिए दोस्ताना व्यवहार किया जाता है। खास बात यह है कि कॉल के दौरान पाकिस्तान की तरफ से आने वाले फोन का नंबर भारतीय दिखता है।

इन्हें रहना होगा सतर्क


सभी सरकारी कार्यालयों, रेलवे स्टेशन, डाकघर, राजस्व विभाग, पुलिस थानों के साथ स्थानीय स्तर के कार्मिक तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पटवारी, ग्राम सेवक सहित संवेदनशील कर्तव्य से जुड़े सभी सरकारी कार्मिकों को सतर्क रहने को कहा गया है। इसके अलावा क्षेत्र के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, तेल व गैस आदि प्रतिष्ठानों के प्रबंधकों से सम्पर्क करने को कहा गया है, जिससे वे अपने कार्मिकों को भी सतर्क कर सके।

इन अधिकारियों पर जिम्मेदारी

इंटेलिजेंस की इस एडवायजरी की प्रति पुलिस आयुक्त जयपुर व जोधपुर, सभी रेंज आइजी, प्रदेश के सभी जिला पुलिस अधीक्षक, जीआरपी जोधपुर व अजमेर, सभी पुलिस उपायुक्त व सीआइडी के समस्त जोन अधिकारियों को भेजी गई है। एडवायजरी को लेकर पालना करवाने की जिम्मेदारी इन अधिकारियों की होगी।

पाकिस्तानी खुफियाकर्मियों की ओर से फर्जी नाम व नंबर का उपयोग कर संवेदनशील व सामरिक महत्व की सूचना प्राप्त करने के बढ़ते प्रयासों के मद्देनजर अधिकारियों को सतर्क करने के लिए एडवायजरी जारी की गई है। यह देश की सुरक्षा का मामला है, इसमें सभी को सतर्क रहना चाहिए।
आलोक वशिष्ठ. महानिरीक्षक, पुलिस (सुरक्षा) राजस्थान

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned