सडक़ पर गिरी रोड़ी दे रही हादसों को निमंत्रण

बस स्टैंड पर रोज गिर रहे हैं बाइक सवार

By: Ashish Joshi

Published: 19 Mar 2021, 04:34 PM IST

सीकर/पाटन. अरे... वो गिर गया। कोई उसे उठाओ। हे भगवान... बाल बाल बच गया। ये शब्द कस्बे के बस स्टैंड पर एक दिन में दर्जनों बार सुने जा सकते हैं। प्रतिदिन यहां दर्जनों बाइक सवार गिरते हैं तो कभी फिसल कर अपने आप को कन्ट्रोल कर गिरने से बाल बाल बच जाते हैं। इन आम हो चली दुर्घटनाओं का कारण यहां से गुजरने वाले ओवरलोड वाहनों से गिरने वाली रोड़ी हैं। देईमाई मन्दिर से लेकर करजो मोड़ तक सीसी रोड़ बनी हुई है। इस रोड़ पर चलने वाले वाहनों की रफ्तार तेज होती है ऐसे में मुख्य तिराहे, होली चौक, देईमाई मन्दिर व अस्पताल के पास घुमाव में तेज रफ्तार ओवरलोड ट्रेलर व डम्परों से भारी मात्रा में रोड़ी सडक़ पर गिर जाती है। कस्बे व आसपास के इलाकों में बनने वाली रोड़ी दिल्ली व हरियाणा जाती है। वाहन चालक अधिक किराये के लालच में वाहन में ऊपर तक रोड़ी भर लेते हैं जो रास्ते में गिरती हुई जाती है। रात्रि में यह समस्या बढ़ जाती है। बस स्टैंड पर रात में ट्रैफि क नहीं होने से ओवरलोड वाहन तेज रफ्तार से चलते हैं। सुबह जब बस स्टैंड पर दुकानदार आते हैं तो सडक़ पर सैंकड़ों क्विंटल रोड़ी बिखरी हुई मिलती है। सडक़ पर बिखरी रोड़ी पर बाइक सवार दिन भर स्लिप होते रहते हैं जो कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकता है। 23 फ रवरी को होली चौक पर हुई सडक़ दुर्घटना में पांचू खरकड़ा निवासी एक युवक की मौत भी हो गई थी। स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि सडक़ पर गिरने वाली रोड़ी की सफाई भी करते हैं लेकिन यहां से ओवरलोड वाहन 24 घंटे गुजरते हैं जिनसे रोड़ी गिरती रहती है। ऐसे में पूरे दिन सफ ाई करना भी सम्भव नहीं है। व्यापारियों का कहना है कि रोड़ी से भरे वाहनों को तिरपाल से ढकवा दिया जाए तो समस्या कुछ हद तक कम हो सकती है।
-------------------
गोली की तरह उछलती है रोड़ी
सडक़ पर गिरी रोड़ी से सिर्फ बाइक सवार ही नहीं बल्कि दुकानदार भी कई बार दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं। वाहनों के टायर के नीचे आकर सडक़ पर गिरी रोड़ी गोली की रफ्तार से उछलती है। गनीमत है कि अभी तक इससे किसी को गम्भीर चोट नहीं आई लेकिन दुकानों के बाहर लगे शीशे अनेक बार टूट चुके हैं।
------------------------
इनका कहना है....
बस स्टैंड पर बाइक सवारों को गिरते देखना आम हो गया है। सुबह सुबह मैं खुद लगभग 50 किलो रोड़ी सडक़ पर से हटाता हूं। सोमवार को भी एक बाइक सवार ने स्लिप होकर साइकिल सवार के टक्कर मार दी थी जिससे वो गिर गया। सामने से ट्रॉला आ रहा था गनीमत रही कि साइकिल वाला विपरीत दिशा में गिरा नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।
रवि सैनी, फ ल विक्रेता
--------------------
बस स्टैंड पर सडक़ पर रोड़ी गिरना रोज की समस्या हो गई है। ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई होने के साथ साथ रोड़ी व डस्ट ले जा रहे वाहनों पर तिरपाल लगाना अनिवार्य होना चाहिए। यदि हालात ऐसे ही रहे तो ग्राम पंचायत द्वारा दिन में भारी वाहनों के लिए दिन में प्रवेश निषेध किया जाएगा।
मनोज चौधरी, सरपंच ग्राम पंचायत पाटन

Ashish Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned