पौने छह महीने बाद खुला जीणमाता मंदिर, प्रदेशभर से पहुंचे श्रद्धालु

राजस्थान के सीकर जिले की प्रसिद्ध शक्ति पीठ जीणमाता का मंदिर मंगलवार को खोल दिया गया।

By: Sachin

Published: 15 Sep 2020, 05:37 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की प्रसिद्ध शक्ति पीठ जीणमाता मंगलवार को खोल दिया गया। मार्च के पहले लॉकडाउन में बंद हुए मां जीण के दर्शन आम श्रद्धालुओं को करीब पौने छह महीने बाद हुए। जिसकी ललक लिए प्रदेश के कई जिलों से रविवार को मां के भक्त मंदिर की दहलीज पर पहुंचे। कोरोना काल से पहले के सामान्य दिनों के मुकाबले हालांकि मंदिर परिसर में भीड़ कम रही। कोरोना काल की गाइडलाइन की पालना करते हुए श्रद्धालुओं का प्रवेश भी पूरी जांच पड़ताल के बाद ही हुआ। श्रद्धालुओं को मुंह पर मास्क होने पर ही मंदिर में प्रवेश दिया गया। वहीं, मंदिर में किसी भी चीज को छूने की मनाही के साथ फूल, माला या प्रसाद तक भी नहीं चढ़ाने दिया गया। ना ही मंदिर कमेटी की ओर से प्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं को जीणमाता के दर्शन भी 100 फीट दूर से कराये गए। मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए गोले घेरे भी बनाए गए।

बच्चों व बुजुर्गों के दर्शनों पर रोक
जीणमाता मंदिर में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार बच्चों व बुजुर्गों को फिलहाल प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। मंदिर पुजारी ने बताया कि कोरोना के खतरे को देखते हुए मंदिर में 10 साल से कम व 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के प्रवेश पर रोक रखी गई है। इन्हें किसी भी परिस्थिति में मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जा रहा।

10 सेनिटाइजर मशीन लगाई
मंदिर में कोरोना गाइडलाइन की पालना में सफाई व्यवस्था का पूरा ध्यान रखा गया है। वहीं अलग अलग जगहों पर 10 सेनिटाइजर मशीन लगाई गई है। श्रद्धालुओं को प्रवेश मास्क पहने होने पर ही दिया जा रहा है। मंदिर में समूह में प्रवेश पर रोक के साथ प्रसाद चढ़ाने व वस्तुओं को छूने पर भी रोक है।

कोरोना केस से बढ़ गया था संशय
जीणमाता मंदिर खुलने से पहले कोरोना वायरस का यहां भी अटैक सामने आया। यहां दो दिन पहले ही मंदिर का गार्ड कोरोना की जांच में पॉजिटिव पाया गया था। जिसके बाद एकबारगी मंदिर खुलने पर संशय भी पैदा हो गया था। लेकिन, पूरी व्यवस्थाओं के साथ मंदिर कमेटी ने मंगलवार को मंदिर खोलने का फैसला लेते हुए दर्शन शुरू कर दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned