Coronavirus- 800 साल में पहली बार जीणमाता मेला स्थगित, ऑनलाइन होंगे दर्शन

कोरोना कहर (Corona virus) ने धार्मिक मेलों पर भी रोक लगा दी है। इसका असर नवरात्रि में भरने वाले जीणमाता मेले पर भी पड़ गया है।

By: Sachin

Updated: 19 Mar 2020, 01:15 PM IST

सीकर. कोरोना (Corona Virus)कहर ने धार्मिक मेलों पर भी रोक लगा दी है। इसका असर नवरात्रि में भरने वाले जीणमाता (Jeenmata) मेले पर भी पड़ गया है। जहां प्रतिबंध के बार इस बार 800 साल में पहली बार यह मेला नहीं भरेगा। दो दिन के संशय के बाद आखिरकार बुधवार देर शाम प्रशासन और मंदिर कमेटी के बीच मेला नहीं भराने के मुद्दे पर सहमति बन बनीं। बतादें कि सोमवार रात को 50 से अधिक लोगों के एकत्रित होने के प्रतिबंध के राज्य सरकार (Rajasthan Government) ने आदेश जारी कर दिए थे। इसके बाद से प्रदेशभर में मेले के आयोजनों पर संशय की स्थिति बनी हुई थी। मेला नहीं भरने की वजह से मंदिर कमेटी की ओर से रोजाना सोशल मीडिया के जरिए भक्तों को मां जीण भवानी के दर्शन कराए जाएंगे। हालांकि मंदिर के पट रोजाना की तरह खुले रहेंगे। मेला 25 मार्च से अप्रेल के पहले सप्ताह तक प्रस्तावित था। मेले में हर साल लगभग दस लाख भक्त दर्शनों के लिए आते है। मेला अवधि दूर-दराज से भक्त यहां नहीं पहुंचे इसके लिए प्रशासन ने प्रचार अभियान शुरू करने की बात भी कही है।

नहीं भरेगा मेला: मेला मजिस्ट्रेट

कोरोना वायरस की वजह से मार्च में भरने वाला जीणमाता का मेला इस साल नहीं भरेगा। मंदिर कमेटी को भी इस संबंध में जानकारी दे दी है। मंदिर कमेटी ने इसमें पूरा सहयोग करने की बात कही है। इसके लिए प्रचार-प्रसार किया जाएगा।
अशोक रणवां, मेला मजिस्ट्रेट व उपखंड अधिकारी दांतारामगढ़


प्रशासन से बातचीत हुई, इस बार मेला नहीं

मेला मजिस्ट्रेट से बुधवार को बातचीत हुई है। कोरोना वायरस की वजह से मार्च में भरने वाला मेला स्थगित करने की पूरी कमेटी ने सहमति दी है। भक्तों को ऑनलाइन दर्शन कराने की व्यवस्था की जा रही है।
राकेश पाराशर, व्यवस्थापक, जीणमाता मंदिर, सीकर


मेला स्थल पर भीड़ नहीं हो, इसके लिए ग्राम पंचायत सभी भक्तों व ग्रामीणों से अपील करेगी। प्रशासन के आदेशों की पूरी पालना कराई जाएगी। मेला मजिस्ट्रेट ने नए आदेशों की जानकारी दे दी है।

सुभाष शेषमा, सरपंच, जीणमाता

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned