Video : जन्माष्टमी पर जोखिम में पड़ गई इस ‘कान्हा’ की जान, लोगों ने यूं बचाया

vishwanath saini | Publish: Sep, 04 2018 01:16:59 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 04:33:05 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

www.patrika.com/sikar-news/

सीकर. राजस्थान के सीकर के धोद में जन्माष्टमी 2018 की रात को हुई मटकी फोड़ प्रतियोगिता में एकबारगी तो सबकी सांसे थम गई। यहां मटकी फोडऩे वाला एक ‘गोविंदा’ पिरामिड गिरने से 25 फिट ऊपर हवा में लटक गया। जिससे लोग दहशत में आ गए। कुछ देर रस्सी पर लटकने के बाद उसने जमीन पर छलांग लगा दी।

गनीमत यह रही कि इस दौरान नीचे मिट्टी बिछी होने के कारण उसे कोई चोट नहीं लगी। बतादें कि यहां कृष्ण जन्म के बाद मटकी फोड़ प्रतियोगिता हुई थी। जिसमें कस्बे की कई टीमों ने हिस्सा लिया था। जिसमें बाबा सुखदेव दास टीम ने मटकी फोड़ विजेता का खिताब जीता।

मटकी फोडऩे वाली इसी टीम का गोविंदा मटकी फोडऩे में रस्सी पकडकऱ इतनी शिद्दत से जुट गया कि उसके नीचे का पिरामिड गिरने पर भी उसने वह रस्सी नहीं छोड़ी। जिससे वह हवा में ही लटक गया। जिससे एकबारगी तो सबके होश फाख्ता हो गए। बाद में उसने मिट्टी में छलांग लगाकर जान बचाई। जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

 

Sikar City Janmashtami 2018

 

सीकर. रात बारह बजे काली घटाओं के बीच कडक़ती बिजली व हल्की बूंदों के बीच ज्योंही भगवान श्रीकृष्ण जन्मे चारों तरफ खुशियां छा गई। शंख, झालर, घंटे, घडिय़ाल गंूज उठे। हर तरफ श्रीकृष्ण गोविंद हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा की गूंज सुनाई देने लगी। विशेष आरती के बाद प्रसाद वितरित किया गया। इसके बाद श्रद्धालुओं ने उपवास खोला। जिलेभर में भगवान कृष्ण के जन्म पर सोमवार को जन्माष्टमी पर्व श्रद्धा व उल्लास से मनाया गया। मंदिरों में विशेष कार्यक्रम हुए। मंदिरों को रंग बिरंगी रोशनी से सजाया गया। भगवान का विशेष शृंगार किया गया। कहीं बाल गोपाल की झांकी सजाई कई तो कहीं दही हांडी प्रतियोगिता में जोरदार उत्साह देखने को मिला। विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया। अनेक जगह भजनों के कार्यक्रम हुए।


नगर सेठ गोपीनाथजी के मंदिर सहित अनेक जगह धार्मिक आयोजन हुए। जन्माष्टमी पर इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग रहा। जन्माष्टमीका मुख्य आयोजन सुभाष चौक स्थित गोपीनाथजी के मंदिर में हुआ। यहां सुबह से ही विशेष पूजा-अर्चना की गई। सुबह से श्रद्धालुओं की कतार लगी रही जो देर रात तक जारी रही। चार सितम्बर को नंदोत्सव मनाया जाएगा। वहीं सिटी डिस्पेंसरी नंबर दो के पास स्थित जगदीशजी मंदिर में श्रीचक्र नवयुवक मंडल की ओर श्रीकृष्णावतार नाटक का मंचन किया गया। इसके अलावा कल्याणजी मंदिर, जानकीनाथ मंदिर सहित शहर के सभी मंदिरों में पर्व उल्लास से मनाया गया।


12 बजे बाद फोड़ी मटकी
इधर जाट बाजार में जागरण का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सुरेन्द्र व रामअवतार मारवाड़ी, आरती शर्मा व सीमा भट्ट व अन्य ने भजनों की प्रस्तुति दी। बारसात के बावजूद बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। आमली रोड स्थित श्याम मंदिर में रात 12 बजे मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। संयोजक प्रशांत स्वामी ने बताया कि रात को भजन संध्या भी हुई। वहीं मदन लाल बियाणी बालिका आदर्श विद्या मंदिर सीकर में आदर्श विद्या मंदिर समूह की ओर से झांकियां सजाई गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned