मर्डर के बाद हत्यारे ने खोली होटल, ढाई साल बाद गिरफ्तार

सीकर. जिले के टॉप-10 अपराधियों में शामिल मनजीत बाजिया हत्याकांड के आरोपी बंटी को सदर पुलिस मनाली से गिरफ्तार किया है।

By: Sachin

Published: 24 Dec 2020, 10:57 AM IST

सीकर. जिले के टॉप-10 अपराधियों में शामिल मनजीत बाजिया हत्याकांड के आरोपी बंटी को सदर पुलिस मनाली से गिरफ्तार किया है। वह घटना के बाद से ही फरार चल रहा था। एसपी की ओर से उस पर 5 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। एएसपी सीकर देवेंद्र शर्मा ने बताया कि मनजीत बाजिया हत्या में शामिल 5 हजार रुपए के इनामी बदमाश बंटी उर्फ बनवारीलाल पुत्र हीरालाल जाट निवासी गणेशपुरा लोसल को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि 13 मई 2018 को परिवादी कमलेश कुमार पुत्र दानाराम जाट निवासी फकीरपुरा ने मामला दर्ज कराया था। उन्होंने बताया कि उसका भाई मनजीत कुमार एसके कॉलेज में पढ़ता था। उसने सीकर में रेडीमेंट कपड़े की दुकान भी कर रखी है। 11 मई को मनजीत अपने दोस्त की शादी में बीबीपुरा में गया था। वहां पर एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष के चुनाव को लेकर अनबन हो गई। मनजीत के साथ शादी में अरविंद झीगर, सुरेंद्र खीचड़ गोकुल, अकरम पठान भी गए थे। मनजीत ने रात को 11.30 बजे कमलेश को फोन कर बताया कि दिनेश नागा, ओमप्रकाश नागा, सुनील ढाका, बंटी उर्फ बनवारीलाल, दिनेश बुडानिया, सुभाष गुर्जर, शिव उर्फ शिवराज चौधरी व अन्य 10-12 युवक उसका पीछा कर रहे है। मनजीत काफी देर रात तक घर पर नहीं आया। उसने कई बार मोबाइल पर फोन किए। उसका नंबर भी बंद आ रहा था। वह सुबह एसके अस्पताल में गया तो मनजीत के सिर व शरीर पर काफी चोटें आई हुई थी। मनजीत बेहोश था और बोल नहीं पा रहा था। मनजीत को जयपुर उपचार के लिए रैफर कर दिया गया था। इसके बाद वह कोमा में चला गया। बाद में उसकी मौत हो गई। कमलेश ने रिपोर्ट में बताया कि उसके भाई की इन लोगों ने मिलकर पीट-पीट कर हत्या कर दी। पुलिस ने मामले की जांच कर कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया।


मनाली में किराए पर चला रहा था होटल
सदर थानाधिकारी पुष्पेंद्र सिंह को सूचना मिली कि आरोपी बंटी मनाली में किराए का होटल चला रहा है। इसके बाद पुष्पेंद्र सिंह के नेतृत्व में कांस्टेबल अनिलकुमार, ओमप्रकाश व राजकुमार के साथ मनाली में पहुंच कर कार्रवाई की गई। टीम ने मनाली में दो दिन तक राजस्थान के लोगों के कई होटलों को जाकर चैक किया। इस दौरान पुलिस टीम को पता लगा कि महादेव कॉटेज के नाम बंटी मनाली में होटल चलाता है। इसके बाद कुल्लु मनाली पुलिस व साइबर टीम को ऑपरेशन में शामिल किया गया। इसके बाद आरोपी को मनाली पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की टीम देर रात को लेकर उसे सीकर पहुंची।


नेपाल, आसाम सहित कई राज्यों में काटी फरारी

पुलिस को जांच में पता लगा कि बंटी ने नेपाल, आसाम, मेघालय, पंजाब, हिमाचल सहित कई राज्यों में छुप कर फरारी काटी। इसके खिलाफ पहले से मारपीट के पांच मामले दर्ज है। उन्होंने बताया कि मामले में पुलिस ने दिनेश नागा, नितिन यादव, सुभाष गुर्जर, सुनील ढाका, दिनेश बुडानिया, शिवराज चौधरी, अंकित उर्फ पिंटू को जांच के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। सभी जेल में भिजवाया जा चुका है। वहीं हाल ही में कुछ दिनों पहले बीमारी के कारण शिवराज चौधरी की मौत हो चुकी है।


नाम बदलकर पुलिस होटलों में रूकी
सीकर पुलिस की टीम मनाली में दो दिनों तक बंटी की तलाश में जुटी रही। बंटी की तलाश में पुलिस ने नाम-नाम बदल कर कई होटलों में पूछताछ की। पुलिस की टीम खुद की पहचान छुपा कर होटलों में रूकी। होटल का पता लगने पर पुलिस की टीम ने बंटी के होटल के सामने ही कमरा लिया था। इसके बाद उस पर होटल से ही नजर रखी। सूचना मिलने के बाद मनाली पुलिस के सहयोग से उसे गिरफ्तार कर लिया। सदर थानाधिकारी पुष्पेंद्र सिंह ने बताया कि मनाली पुलिस व साइबर टीम का काफी सहयोग मिला। फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned