हत्यारा बोला- गला काटते हुए बहुत मजा आया, धड़ से अलग करना चाहता था सिर

राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के करड़ गांव में 13 वर्षीय मासूम की ब्लेड से गर्दन काटने वाले भाई का वहशियाना कबूलनामा सामने आया है।

By: Sachin

Updated: 10 Jan 2021, 10:19 AM IST

सीकर/दांतारामगढ़. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के करड़ गांव में 13 वर्षीय मासूम की ब्लेड से गर्दन काटने वाले भाई का वहशियाना कबूलनामा सामने आया है। पुलिस की पूछताछ में उसका कहना था कि उसे चचेरे भाई का गला काटते हुए बहुत मजा आया। उसे लग रहा था कि उसके हाथ में उस्तरा है। वह भाई का सिर धड़ से अलग करना चाहता था। उसने बताया कि वह ब्लेड़ भी दुकान से नया लेकर आया था। पुलिस ने मौका मुआयने के दौरान ब्लेड को बरामद व आरोपी कैलाश से पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब है कि शुक्रवार को करड़ के कैलाश रैगर ने पोषाहार के लिए पटवार हाउस गए चचेरे भाई उत्तम की रास्ते में ब्लेड से गला रेंत कर हत्या कर दी थी। जिसका लाइव वीडियो भी सामने आया था।

पढ़ाई को लेकर भी हीन भावना
दांतारामगढ़ थानाधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया कि आरोपी से घटना को लेकर पूछताछ की गई है। पूछताछ में उसने बताया कि मन में पढ़ाई को लेकर चचेरे भाई उत्तम व उसके पिता से हीन भावना थी। काफी समय से उसके दिमाग में बदला लेने की भावना पनप रही थी। पुलिस पूछताछ में भी वह बहकी हुई बातें कर रहा था। उसे हत्या किए जाने की बात कबूल की है।

रुपयों का लेनदेन व शादी बिगाडऩे की बात भी आई सामने
पुलिस को पूछताछ में कैलाश ने बताया कि उसके पिता मंगलचंद एवं मृतक उत्तम के पिता गोपाल के बीच पांच-सात हजार रुपयों का लेनदेन भी चल रहा था। उसने दोनों परिवारों में रुपयों को लेकर अनबन की बात कही है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि रुपयों के लेन-देन व तानों की रंजिश के साथ ही उसने हत्या करने की योजना बनाई। दोनों परिवारों के मकान की दीवार एक ही है। उस दीवार को लेकर दोनों परिवारों के बीच में कभी-कभी आपसी विवाद भी होता रहता है। आए दिन विवाद से परेशान होकर उसने बदला लेने की ठान ली। इसके बाद चचेरे भाई को पटवार भवन के पास ले जाकर हत्या कर दी। यह भी बात सामने आई है कि वह अपने चाचा की बेटियों की शादी बिगाड़कर भी उन्हें बदनाम करना चाहता था।

वहशीपन : हत्यारा बोला गला काटने में बहुत मजा आया
चचेरे भाई की हत्या के आरोपी कैलाश को बिल्कुल भी अफसोस नहीं है। उसने कहा कि उत्तम का गला काटने में उसे बहुत मजा आया। हत्या करने के बाद कैलाश ने लोगों को कहा कि उत्तम का गला रेंतने पर काफी सुकून मिल रहा था। कैलाश ने बताया कि ऐसा लग रहा था कि मेरे हाथ में ब्लेड नहीं होकर एक उस्तरा हो। गला काटते समय में आनंद महसूस कर रहा था। बहकी-बहकी बातों से पुलिस को भी हत्या के ठोस कारणों का पता नहीं लग पाया है। इस मामले में मृतक के पिता चाचा ने कैलाश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned