डेढ़ गुना से भी ज्यादा कीमत में बिक रही शराब की दुकानें

(Liquor shops sold for one and a half times more expensive in auction) नई आबकारी नीति के तहत राजस्थान के सीकर जिले में शराब की दुकानों की नीलामी (liquor shop auction in sikar )प्रक्रिया गुरुवार को शुरू हुई। जिले की कुल 337 शराब की दुकानों के लिए पहले चरण में 47 दुकानों की हुई नीलामी में ही सरकारी बजट को बड़ा फायदा हुआ। दुकानों की नीलामी आरक्षित कीमत से भी डेढ़ गुना से ज्यादा तक में हुई।

By: Sachin

Published: 05 Mar 2021, 10:21 AM IST

सीकर. नई आबकारी नीति के तहत राजस्थान के सीकर जिले में शराब की दुकानों की नीलामी प्रक्रिया गुरुवार को शुरू हुई। जिले की कुल 337 शराब की दुकानों के लिए पहले चरण में 47 दुकानों की हुई नीलामी में ही सरकारी बजट को बड़ा फायदा हुआ। दुकानों की नीलामी आरक्षित कीमत से भी डेढ़ गुना से ज्यादा तक में हुई। सबसे अधिक महंगी दुकान नेहरू पार्क की रही। जिसकी आरक्षित दर 1.94 करोड़ रुपए थी। जो 2.87 करोड़ रुपए में छूटी। आवेदक इस दुकान के लिए लागातार बोली बढ़ाते रहे। इसी तरह गोठड़ा भूकरान की 57 लाख रुपए आरक्षित राशि वाली शराब की दुकान बोली के बाद 104 लाख रुपए में छूटी। चन्दपुरा ग्राम पंचायत के शराब ठेके की बोली रिजर्व प्राइस से 40 लाख रुपए अधिक बढ़ी। जबकि भैरूंपुरा शराब ठेके की बोली 61 लाख रुपए अधिक पर छूटी। ऐसे में माना जा रहा है कि नई आबकारी नीति से सरकारी राजस्व में भारी इजाफा होगा।

पांच चरणों में होगी निलामी
जिला आबकारी अधिकारी आदराम दहिया ने बताया कि सीकर जिले में 5 चरणों में से पहले चरण में 77 और चार चरणों में 65-65 शराब ठेकों की ऑनलाइन बोली लगाई जाएगी। 9 मार्च 2021 को रात 12 बजे तक आवेदक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। नीलामी में सीकर जिले की शराब दुकानों की बोली में बोलीदाता बढ़-चढकऱ हिस्सा ले रहे हैं। ऑनलाइन बोली में पूर्ण पारदर्शिता होने के चलते आवेदकों की संख्या भी बढ़ी है। सहायक आबकारी अधिकारी लक्ष्मीनारायण देवंदा ने बताया कि गुरुवार को 47 दुकानों के लिए ऑनलाइन बोली लगाई गई। जिसमें सीकर शहर के नेहरू पार्क के शराब ठेके की सबसे ज्यादा बोली लगी। इस ठेके की रिजर्व प्राइस 1.94 करोड़ रुपए थी। आवेदन हर 10 मिनट के भीतर बोली बढ़ाते गए और अंत में यह शराब ठेका 2.87 करोड़ रुपए में छूटा। 3 मार्च को पहले चरण की बोली में 43 दुकानें छूटी।

10 मार्च तक लगेगी बोली
सहायक आबकारी अधिकारी लक्ष्मीनारायण देवंदा ने बताया कि शराब की दुकानों के लिए 10 मार्च तक बोलियां लगाई जाएगी। जिला आबकारी अधिकारी दहिया ने बताया कि पड़त शराब की दुकानों पर 10 मार्च के बाद रिजर्व प्राइस से ही बोली शुरू की जाएगी। रिजर्व प्राइस से पांच हजार या पांच हजार रुपए के गुणांक में बोली लगाई जाए तो उसके नाम बोली छोड़ दी जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned