नगर परिषद सभापति का सीधा चुनाव दोनों पार्टियों के लिए सिरदर्द से कम नहीं!

नगर परिषद सभापति का सीधा चुनाव दोनों पार्टियों के लिए सिरदर्द से कम नहीं!
नगर परिषद सभापति का सीधा चुनाव दोनों पार्टियों के लिए सिरदर्द से कम नहीं!

Gaurav Saxena | Updated: 23 Sep 2019, 06:38:24 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

दोनों ही पार्टियों के नेताओं में पार्षद बनने की चाहत को कमजोर कर दिया है। दोनों ही पार्टियों के वरिष्ठ पार्षद अब सभापति के चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं।

सीकर. नगर परिषद में सभापति के सीधे चुनाव ने दोनों ही पार्टियों के नेताओं में पार्षद बनने की चाहत कमजोर कर दी है। दोनों ही पार्टियों के वरिष्ठ पार्षद अब सभापति के चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं। राज्य सरकार के सीधे चुनाव के निर्णय से नहीं पलटने और लॉटरी में सीट के सामान्य रहने पर सभापति के पद को लेकर सीकर में कड़ी टक्कर होगी। दोनों ही पार्टियों में बगावत के साथ दो दर्जन से ज्यादा उम्मीद्वार मैदान खड़े हो सकते हैं। प्रदेश कांग्रेस की जयपुर में हुई बैठक में दिए गए फीडबैक के आधार पर यह भी माना जा सकता है कि सरकार जल्द ही इस मुद्दे पर यू-टर्न ले सकती है। वजह है कि सरकार की ओर से शहरी मतदाताओं का फीडबैक भी लिया जा रहा है।
अभी नहीं किया किसी को इशारा
नगर परिषद चुनाव में पार्षद के उम्मीदवार को लेकर अभी तक दोनों ही पार्टियों ने पार्षद के उम्मीद्वारों पर मंथन तो दूर चुनाव की तैयारी का इशारा भी नहीं किया है। दावेदारों ने भी टिकट के लिए कोई विशेष जतन शुरू नहीं किए हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के दौरे में सक्रियता और कांग्रेस के नेताओं के पास भीड़ को देखे तो सभापति के दावेदार ही ज्यादा सक्रिय नजर आ रहे हैं।
सीधे चुनाव में कांग्रेस पर संकट
नगर परिषद सभापति का सीधा चुनाव अब तक काबिज कांग्रेस पर संकट ला सकता है। शहर में मुस्लिम वार्डों की संख्या अधिक होने का कांग्रेस को बोर्ड बनो में हमेशा फायदा मिला है। जबकि सीधे चुनाव में यहां कांग्रेस को पहले भी मात खानी पड़ी है। ऐसे में जानकारों का मानना है कि लगातार काबिज होने के कारण सीधे चुनाव में कांग्रेस में बगावत भी ज्यादा होगी। इसके सुर सभापति की लॉटरी निकलने से पहले ही दिखाई देने लगे हैं।
सभापति के टिकट को लेकर खत्री की कांग्रेस को चुनौती
यह बगावत तो नहीं, लेकिन नगर परिषद के सभापति के पद को लेकर कांग्रेस को चुनौती जरूर है। यह चुनौती दी है सैकड़ों लोगों के बीच कांग्रेस से दो बार परिषद के सभापति रहे हनीफ खत्री ने। कांग्रेस के शहर अध्यक्ष व पार्षद मुस्ताक तंवर के घर रविवार शाम हुई बैठक में हनीफ खत्री ने मुस्ताक तंवर को सभापति के पद की टिकट देने का प्रस्ताव रखा। जिला कांग्रेस कमेटी और शहर विधायक को भेजे गए प्रस्ताव में बताया गया है कि मुस्ताक तंवर को टिकट दिए जाने पर बैठक में उपस्थित सर्व समाज के लोग समर्थन करेंगे। इस बैठक में परिषद के पांच पार्षद, बकरामंडी, मोहल्ला व्यापारियान, इस्लामिया स्कूल और फतेहपुर रोड क्षेत्र के लोग शामिल हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned