पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के एक सवाल से कांग्रेस सरकार में आया भूचाल, बैठाई जांच

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के एक सवाल से कांग्रेस सरकार में आया भूचाल, बैठाई जांच

Vinod Singh Chouhan | Publish: Apr, 22 2019 12:57:07 PM (IST) | Updated: Apr, 22 2019 12:57:08 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

Lok Sabha Election 2019 : पिछले दिनों सीकर में पूर्व मुख्यमंत्री का बिजली कटौती को लेकर दिया गया भाषण विद्युत निगम के अभियंताओं के लिए बड़ी मुसीबत गया है।

सीकर.

पिछले दिनों सीकर में पूर्व मुख्यमंत्री EX cm Vasundhara raje का बिजली कटौती को लेकर दिया गया भाषण विद्युत निगम के अभियंताओं के लिए बड़ी मुसीबत गया है। डिस्कॉम प्रबंधन ने सर्किल के सभी अभियंताओं से कटौती की रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए है। भाजपा प्रत्याशी की सीकर में हुई नामांकन सभा में पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने जनता से सवाल किया था कि बिजली अब तो पूरी मिल रही होगी ? इसके बाद जनता ने कहा था कि नहीं मिल रही। पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने जयपुर स्थित आवास में भी कई दिनों से ट्रिपिंग की बात कही थी। इसके बाद हरकत में आई सरकार ने तत्काल विद्युत निगम के उच्च अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की। पहले पूर्व मुख्यमंत्री के आवास में हुई कटौती की जांच हुई तो अगले चरण में सीकर में कटौती को लेकर जानकारी मांगी गई है। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री की सभा के बाद हुई वीसी में यहां के अभियंताओं ने स्थिति स्पष्ट कर दी थी। इधर, Lok Sabha Election 2019 को लेकर बिजली को लेकर सियासत गर्माने पर कांग्रेस सरकार ने अभियंताओं को मरम्मत अभियानों को भी स्थिगित करने के फरमान दिए है। सूत्रों का कहना है कि बारिश के सीजन से पहले होने वाले मरम्मत अब लोकसभा चुनाव के बाद चलाया जाएगा।


अभियंताओं की वीसी
पूर्व मुख्यमंत्री के वयान के बाद अभियंताओं की वीसी भी हुई। इसमें बिजली सप्लाई में आ रही दिक्कतों के बारे में पूछा गया। इस दौरान उच्च अधिकारियों ने स्पष्ट तौर पर कहा कि अब लोड बढ़ाने पर भी किसी भी जिले में सप्लाई बंद नहीं कराई जाएगी। ज्यादातर जिलों के अधिकारियों से फिलहाल दी जा रही सप्लाई के बारे में पूछा गया।


मौसम ने बेटपरी की थी सप्लाई
पिछले दो सप्ताह में मौसम का मिजाज काफी बदला। प्रदेशभर में हुई अघोषित बिजली कटौती के पीछे यह भी बड़ी वजह सामने आई है। सीकर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश व अंधड़ की वजह से चार से दस घंटे तक सप्लाई प्रभावित रही थी। निगम का दावा है कि सभी क्षेत्रों में अधंड का दौर थमते ही सप्लाई शुरू करा दी गई थ


कांग्रेस नहीं चाहती: बिजली बने मुद्दा
Congress सरकार नहीं चाहती लोकसभा चुनाव के समर में बिजली बड़े मुद्दे के तौर पर गूंजे। इसलिए सभी डिस्कॉम के अधिकारियों को बिजली कटौती व ट्रिपिंग की रिपोर्ट लगातार भेजने के निर्देश दिए है। वहीं पिछले दिनों हुई कटौती के बारे में भी जानकारी मांगी गई है। दूसरी तरफ Bjp की अब तक ज्यादातर चुनावी सभाओं में कांग्रेस को बिजली के मुद्दे पर भी घेरा गया है।


कटौती पर रोक लगा दी: एसई
जिले में अघोषित कटौती पर पूरी तरह रोक लगा दी है। आपातकालीन स्थिति में ही बिजली सप्लाई बंद कराने के निर्देश दिए है। पिछले दिनों सभी जिलों में सप्लाई की हकीकत जानने पर पता लगा कि डिस्कॉम में सबसे ज्यादा सप्लाई सीकर के लोगों को मिली है। सीकर में कृषि उपभोक्ताओं को औसत 6.31 घंटे व घरेलू उपभोक्ताओं को साढ़े 23 घंटे से अधिक सप्लाई मिली है। -विद्याद्यर सिंह, अधीक्षण अभियंता, विद्युत निगम, सीकर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned