भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं ने मन मोहा

बुधगिरी मढ़ी पर चल रही भागवत कथा के पांचवे दिन भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन किया। व्यासपीठ से दिनेशगिरी महाराज ने कृष्ण भगवान की बाल लीलाओं का पूतना वध एवं कालिया मर्दन का बड़ा ही मनमोहक तथा सुंदर वर्णन सुनाया ।

Ajay Sharma

19 Feb 2020, 05:48 PM IST

फतेहपुर. बुधगिरी मढ़ी पर चल रही भागवत कथा के पांचवे दिन भगवान कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन किया। व्यासपीठ से दिनेशगिरी महाराज ने कृष्ण भगवान की बाल लीलाओं का पूतना वध एवं कालिया मर्दन का बड़ा ही मनमोहक तथा सुंदर वर्णन सुनाया । उन्होंने कहा कि नन्दबाबा ने उत्सव मनाया जिसमे 2 लाख गायों का दान किया। उनके घर घी,माखन मिश्री के भंडार भरे रहते थे। श्री कृष्ण भगवान सखाओ के संग गाये चराने एवं राधा संग रास का भी मधुर वर्णन किया । गोवेर्धन पूजा प्रसंग सुनाते हुए अंचल की एक गोचर भूमि को गोद लेकर उसके संरक्षण एवं गोचारण की जिम्मेदारी ली है ।
तत्पश्चात कथा कर अंत में श्री कृष्ण भगवान गोकुल से मथुरा प्रस्थान करते हैं के प्रसंग हुआ तो आंखों से अश्रुधारा बहने लगे गई। उन्होंने मथुरा में कंश के दो पहलवानो को युद्ध मे हराकर कंस वध की कथा सुनाई । इस अवसर पर रैवासा पीठाधीश्वर राघवाचार्य ने कहा कि सभी प्रेरणा ले एवं गौसेवा पर धयान लगाएं। दिया। कथा में चुवास आश्रम के निश्चल नाथ महाराज ,सुरेश दास महाराज,देवनारायण पीठाधीश्वर माली राम, दयालगिरी महाराज, पूर्व विधायक नंद किशोर महरिया मौजूद रहे।
हुआ सम्मान
कथा के दौरान अशोक पारीक डूंडलोद, महावीर प्रसाद शर्मा, रोहित जोशी, भवानी शंकर भोजक,लीलाधर जांगिड़, पन्नालाल सारड़ा, नटवर जोशी, कांतिप्रसाद पंसारी, सुल्तान सिंह, रमेशभिंडा, रामावतार रूंथला, डा रविन्द्र धाबाई, बजरंगलाल शर्मा, गणेश शर्मा, आदित्य डोकवाल, मोहन लाल सिंगोदिया,श्री राम पुनिया, प्रकाश दायमा, महावीर प्रसाद सुरोलिया, एडवोकेट जय विजय कौशिक, विकास भास्कर,श्री राम,प्रमोद सैनी, सत्यनारायण सैनी,सुनील डोकवाल का सम्मान किया गया।

Ajay Sharma Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned