VIDEO : महेन्द्र गोदारा हत्याकांड के इस आरोपित ने पुलिस को चमका देने के लिए ये काम तक कर डाला, मगर यूं पकड़ा गया

महेंद्र गोदारा हत्याकाण्ड के मामले में पुलिस ने तीसरी सफलता हासिल की है। एएसपी केशरसिंह शेखावत ने बताया कि गोदारा हत्या का नामजद आरोपित तिलोका का बास

By: vishwanath saini

Published: 09 Dec 2017, 05:52 PM IST

Sikar, Rajasthan, India

चूरू. महेंद्र गोदारा हत्याकाण्ड के मामले में पुलिस ने तीसरी सफलता हासिल की है। एएसपी केशरसिंह शेखावत ने बताया कि गोदारा हत्या का नामजद आरोपित तिलोका का बास झुंझुनूं निवासी मंदीप उर्फ मदिया को जयपुर पुलिस ने किसी झगड़े के मामले में बुधवार को गिरफ्तार किया था। जहां उसके पेर में चोट भी आई थी।

जयपुर में पुलिस को चकमा देने के लिए अपना नाम बदलकर मुकेश बताया। इसकी सूचना चूरू पुलिस को मिली। इस पर तुरंत टीम गठित कर भानीपुरा थानाधिकारी राजवीर सिंह व सदर थानाधिकारी रामविलास को जयपुर भेजा गया। जहां उन्होंने आरोपित की पहचान तिलोका का बास झुंझुनूं निवासी मंदीप उर्फ मदिया के रूप में की। पुलिस ने आरोपित को जयपुर से गिरफ्तार कर चूरू लेकर पहुंची।

झुंझुनूं का वांटेड अपराधी है मदिया

गोदारा हत्याकाण्ड का आरोपित मंदीप उर्फ मदिया बिसाऊ थाने का हिस्ट्रीशीटर और झुंझुनूूं सदर, कोतवाली, नवलगढ़ व दूधवाखारा थाने का वांटेड अपराधी है। इस पर हत्या, हत्या का प्रयास, शराब तस्करी, मारपीट, फिरौती, अपहरण व एनडीपीएस एक्ट के करीब दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं।

षडय़ंत्र रचने का आरोपित अजय रिणवा

एएसपी शेखावत ने बताया कि गोदारा हत्याकाण्ड में षडय़ंत्र रचने का आरोपित अजय रिणवा फतेहपुर कोतवाली थाना के हिस्ट्रीशीटर है। इस पर विभिन्न थानों में करीब डेढ़ दर्जन मामले दर्ज है।

Godara Murder Case

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned