scriptmakar sakranti celibration in sikar | मकर सक्रांति: पतंग के साथ उड़ा कोरोना का डर, उल्लास के साथ उमड़ी आस्था | Patrika News

मकर सक्रांति: पतंग के साथ उड़ा कोरोना का डर, उल्लास के साथ उमड़ी आस्था

राजस्थान के सीकर जिले में मकर सक्रांति का पर्व शुक्रवार को आस्था व उल्लास के साथ मनाया जा रहा है।

सीकर

Published: January 14, 2022 12:42:03 pm

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में मकर सक्रांति का पर्व शुक्रवार को आस्था व उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। मौसम खुलने के साथ के लोग छतों पर चढ़ आए हैं। पतंगबाजी के साथ वो काटा- वो मारा का शोर गूंजने लगा है। पतंगबाजी के उल्लास में कोरोना की फिक्र भी उड़ती दिख रही है। इधर, दान- पुण्य का दौर भी शुरू हो गया है। मंदिरों व सार्वजनिक स्थानों पर लंगर लगाकर लोग जरुरतमंदों को भोजन व कपड़े बांट रहे हैं। इससे पहले घने कोहरे ने सुबह जरुर पतंगबाजों की उम्मीदों को धुंधला कर दिया। लेकिन, 11 बजे बाद धीरे- धीरे खुल रहे मौसम ने पतंगबाजों के चेहरों पर भी खुशी लौटा दी है।

मकर सक्रांति: पतंग के साथ उड़ा कोरोना का डर, उल्लास के साथ उमड़ी आस्था
मकर सक्रांति: पतंग के साथ उड़ा कोरोना का डर, उल्लास के साथ उमड़ी आस्था

बच्चों से लेकर बुजुर्ग व महिलाओं ने थामी डोर
मौसम साफ होने के साथ ही छतों पर पतंग की डोर बच्चों से लेकर बुजुर्गों व युवतियों से लेकर महिलाओं तक ने थामनी शुरू कर कर दी है। चारों ओर डीजे पर गूंज रहे गीत- संगीत के बीच हर पेच के साथ होते हो- हुल्लड़ की मस्ती से माहौल सराबोर हो रहा है। तरह- तरह की रंग बिरंगी पतंगों से आसमान भी सजा हुआ सा लगने लगा है।

जमकर हुई खरीददारी
इससे पहले सीकर के बाजारों में पतंग की जमकर खरीददारी हुई। घंटाघर व आसपास के इलाकों में पतंग की दुकानों पर लोगों की भीड़ लगातार जुटी रही। पाबंदी के बावजूद चाइनीज मांझा भी चोरी-छिपे जमकर बिका। इस दौरान उमड़ी भीड़ में सोशल डिस्टेङ्क्षसग की पालना भी काफूर हो गई। हालांकि बचाव के लिए लोगों ने मास्क जरूर लगा रखा था।

ससुर को भेळी देकर बहुं मांग रही हवेली
मकर सक्रांति पर शेखावाटी में विशेष परम्पराएं भी निभाई जा रही है। नई नवेली बहू अपने ससुर को गुड़ की भेळी देकर नई हवेली की मांग कर रही है तो कहीं सूती सेज जगाने व रूठे देवर को घेवर देकर मनाने की परंपरा निभाई जा रही है।

पक्षियों के लिए पशुपालन विभाग सक्रीय
इधर, पतंगबाजी से घायल होने वाले पक्षियों के इलाज के लिए पशुपालन विभाग भी अलर्ट मोड में है। संयुक्त निदेशक डॉ सुमित्रा खीचड़ ने बताया कि घायल पक्षियों की चिकित्सा के लिए बहुद्देेशीय पशु चिकित्सालय सुबह आठ से 16 जनवरी की रात आठ बजे तक खुला रहेगा। जिसमें अधिकारी व कार्मिकों को नियुक्त किया गया है। इस दौरान उपनिदेशक बहुउददेशीय पशु चिकित्सालय डॉ. रशीद अहमद के मोबाइल नम्बर 9414039443 पर व कार्यालय के दूरभाष नम्बर पर 01572-270749 पर घायल पक्षियों की सूचना दी जा सकती है।

सेवाभावी संगठन भी तैयार
पक्षियों की सुरक्षा के लिए सेवाभावी संगठन भी आगे आए हैं। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के कार्यकर्ता की ओर से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। पशु प्रेमी व सामाजिक कार्यकर्ता उमेश माथुर ने बताया कि इसके लिए एक टीम बनाई गई है, जो पक्षियों के घायल होने पर इलाज की व्यवस्था करेगी। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 9460086010 कॉल करके सूचना दी जा सकती है। उन्होंने पक्षियों की हिफाजत के लिए आमजन से मकर संक्रांति पर चाइनीज मांझे का इस्तेमाल नहीं करने की अपील भी की है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजसीएम बड़ा फैसला : स्कूल-होस्टल रहेंगे बंद, घर से ही होगी प्री बोर्ड परीक्षाGuwahati-Bikaner Express derailed:हादसे में अब तक 9 की मौत, जानें इस हादसे से जुड़ी अहम बातेंतीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षणInd vs SA: चेतेश्वर पुजारा कर बैठे बड़ी भूल, कीगन पीटरसन को दिया जीवनदान; हुए ट्रोल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.