बेकरी व मॉल में मिले एक साल पुराने अवधि पार बिस्किट, शरबत, रसगुल्ले सहित कई आइटम

सीकर. जिम्मेदारों की लापरवाही कहें या मुनाफाखोरों के बुलंद हौंसले। सीकर जिले में त्योहारी सीजन में मुंह में मिठास घोलने वाले रसगुल्ले, बिस्किट और नमकीन सहित सडी गली सब्जियां तक खुले आम बिक रही है।

By: Sachin

Published: 27 Oct 2020, 11:07 AM IST

सीकर. जिम्मेदारों की लापरवाही कहें या मुनाफाखोरों के बुलंद हौंसले। सीकर जिले में त्योहारी सीजन में मुंह में मिठास घोलने वाले रसगुल्ले, बिस्किट और नमकीन सहित सडी गली सब्जियां तक खुले आम बिक रही है। यह हकीकत शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के पहले दिन सोमवार को देखने को मिली। मुनाफा कमाने के लिए कुछ दुकानदार व फेक्ट्री मालिकों की ओर से सेहत के घातक इन पदार्थों की बिक्री को देखकर कार्रवाई करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के होश उड गए। खास बात रही है कि सोमवार को जिन पांच जगह पर दल ने कार्रवाई की वहां माप तोल में प्रयुक्त होने वाला एक भी कांटा सरकार की ओर से सत्यापित नहीं मिला। इस पर मौके पर इन प्रतिष्ठानों के खिलाफ मापतोल विभाग ने भी चालान काटा। टीम ने अवधि पार मिली सामग्री को मौके पर नष्ट करवाया। और सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजे गए। रसगुल्ला ओर तेल के सेम्पल लिए गए। वहीं बजरंग कांटा मॉल और स्टेशन रोड की बेकरी के संचालक के खिलाफ न्यायालय में फूड सेफ्टी एक्ट के तहत चालान पेश किया जाएग। जांच के दौरान सैम्पल अनसेफ मिलने पर रसगुल्ला और ऑयल मिल संचालक के खिलाफ भी चालान किया जाएगा। जिसमे तीन लाख रुपए तक के जुर्माने का प्रावधान है। अभियान 14 नवम्बर तक जारी रहेगा। इस दोरान तहसीलदार योगेश कुमार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी रतन गोदारा सहित प्रशासनिक टीम मौजूद रही।


पहले दिन यह हुई कार्रवाई
जिला प्रशासन के निर्देश पर तहसीलदार योगेश कुमार के नेतृत्व में टीम बीकानेर बाइपास पहुंची। जहां रसगुल्ला के सेम्पल लिए गए। इस दौरान रसगुल्ला तैयार करने वाले कढाही में कीडे मकोडों को देखकर टीम ने फौरन मौके पर रसगुल्ले को नष्ट करवाया। इस दौरान क्रीम से घी तैयार करने वाले प्रतिष्ठान से घी का सैम्पल लिया। इसके बाद टीम रीको औद्योगिक क्षेत्र में पहुंची जहां रिफाइंड तेल के टैंकर मंगवाकर छोटी पैकिंग में बेचने वाले ऑयल का सैम्पल लिया गया। इसके बाद टीम बजरंग कांटा स्थित मॉल पर पहुंची। जहां ब्रांडेंड कंपनी के लाल मिर्च पाउडर के सौ-सौ ग्राम के 99 पैकेट अवधि पार मिले। वहीं सेव, अमरूद, पपीते जैसे करीब 54 किलो फल फफूंद लगे मिले। इस पर इन सभी को नष्ट करवाया गया। बाद में टीम स्टेशन रोड पर एक बेकरी व कनफेक्शनरी पहुंची। जहां अवधि पार 42 तरह की अवधि पार खाद्य सामग्री जिनमें ब्रांडेड बिस्किट, शरबत, आइसक्रीम, कॉफी पाउडर, सोनपपडी शामिल है को मौके पर ही जब्त किया। करीब 28 हजार रुपए मूल्य वाली इस सामग्री को नगर परिषद के डपिंग यार्ड में नष्ट करवाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned