खुले कई स्कूल, ऑर्डर मिले तो हुई छुट्टी

बिना अनुमति नहीं छोड़ सकेंगे मुख्यालय

By: Suresh

Published: 20 Apr 2021, 06:48 PM IST

सीकर. कोरोना को हराने के लिए राज्य सरकार की ओर से घोषित जन अनुशासन पखवाड़े के बाद भी प्रदेश के कई जिलों में सोमवार सुबह सरकारी स्कूल खुल गए। विद्यार्थियों के लिए सरकार की ओर से पहले से ही 30 अप्रेल तक अवकाश घोषित है, लेकिन शिक्षकों की छुट्टी को लेकर संशय सोमवार सुबह तक बना रहा। इस कारण शिक्षक स्कूलों में पहुंच गए। कई शिक्षक संगठनों के पदाधिकारियों ने शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा को भी इस गफलत को दूर करने की मांग की। मंत्री की ओर से 9.42 बजे शिक्षा निदेशक के आदेश के साथ ट्वीट किया गया। इसके बाद सरकारी स्कूलों मेें शिक्षकों की छुट्टी हो सकी। अब प्रदेश में सरकारी व निजी स्कूल तीन मई तक बंद रहेंगे। शिक्षा निदेशक की ओर से जारी आदेश में बताया गया कि कोई भी शिक्षक बिना अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ेगा। बिना अनुमति मुख्यालय छोडऩे वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि वीकेंड कफ्र्यू की वजह से शनिवार व रविवार का अवकाश घोषित किया गया था। लेकिन रविवार देर रात सरकार ने सख्ती को और आगे बढ़ा दिया। ऐसे में सोमवार सुबह छह बजे से शिक्षक अवकाश का पता करने में जुट गए। लेकिन ज्यादातर शिक्षा अधिकारी स्थिति स्पष्ट नहीं कर सके।
तो...वर्क फ्रॉम होम
शिक्षकों की फिलहाल कोरोना वैक्सीन, निगरानी दल सहित अन्य कार्यो में ड्यूटी लगी हुई है। जिन शिक्षकों की कोरोना टीम में ड्यूटी नहीं हैं, वे घरों से वर्क फ्रॉम होम कर सकेंगे। शिक्षकों को स्माइल, स्माइल दो व ई-कक्षा के जरिए नियमित कटेंट उपलब्ध कराना होगा।
घरों से परिणाम...
कोरोना की दूसरी लहर की वजह से विद्यार्थियों को पिछले दिनों सरकार ने क्रमोन्नत कर दिया था। ऐसे में सभी नियमित विद्यार्थियों के क्रमोन्नति आदेश जारी होने है। ऐसे में यह कार्य फिलहाल शिक्षकों को तीन मई तक घरों से रहकर ही करना होगा।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned