पिता की डांट से घर से भागी नाबालिग चढ़ी सेक्स वर्कर के हत्थे, पुलिसकर्मी ने भी किया शोषण

सीकर. अगर आप भी छोटी-छोटी बातों के लिए बच्चों पर नाराज होते है तो यह खबर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है।

By: Sachin

Updated: 01 Mar 2020, 04:38 PM IST

सीकर. अगर आप भी छोटी-छोटी बातों के लिए बच्चों पर नाराज होते है तो यह खबर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है। पिता की डांट से गुस्सा होकर बच्ची घर छोड़ कर चली गई और ढाई महीने से भटक रही है। ये दास्तां बिहार के चंपारण जिले के 15 साल की नाबालिग बालिका की है। कभी पुलिसकर्मी उससे बर्तन साफ करवाता है तो कभी सेक्स वर्कर महिला (Sex Worker Woman) के चंगुल में फंस जाती है। कुछ भी गलत होने का संकेत मिलने पर चुपचाप भाग जाती है। अब चाइल्ड लाइन को 15 साल की नाबालिग नीमकाथाना में गरीब नवाज ट्रेन में लावारिस अवस्था में मिली है। बालिका को बाल कल्याण समिति के सदस्य गजेंद्र सिंह चारण के समक्ष पेश किया। उन्होंने बालिका को शेल्टर होम में भेजने के आदेश दिए। बालिका की चाइल्ड लाइन व सीडब्यूसी ने कांउसलिंग की तो पूरी घटना का पता लगा। बिहार के चंपारण जिले की रहने वाली 15 साल की नाबालिग तीन भाईयों के साथ परिवार के साथ रहती थी। करीब ढाई महीने पहले उसके पास पिता ने मोबाइल देखा। मोबाइल मिलने पर उसे फटकारा। भाईयों की भी कहासुनी हुई। नाराज होकर घर से चुपचाप चली गई। लावारिस अवस्था में भटकते हुए बरगानिया थाने के एक पुलिसकर्मी को मिली। उसके परिजनों को मिलने की सूचना देने के बजाय वह उसे घर लेकर आ गया। घर पर झाडू़-पोछा सहित अन्य काम करवाने लगा। करीब ड़ेढ महीने तक बच्ची उसके पास ही घर में रही। पुलिसकर्मी ने बालिका के पहचान पत्र, आधार कार्ड बनवाने के लिए कहा। बालिका को उसने कहा कि तेरी शादी करवा देता हूं। बच्ची को अपने साथ कुछ गलत होने का अंदेशा हुआ। घर में रहकर सारी बातें पता की तो वह चुपचाप ही घर से निकल कर भाग गई।


देह व्यापार में महिला ने धकेलने का किया प्रयास


बच्ची ने काउंसलिंग के दौरान बताया कि वह पुलिसकर्मी के घर से चुपचाप निकल गई। वह लावारिस अवस्था में इधर-उधर भटक रही थी। तभी उसे एक महिला मिली। उसे लावारिस समझ कर महिला अपने साथ घर लेकर आई। उसे खाने-पीने के लिए दिया। बड़े ही प्यार से उसे घर में रखा। उसके घर पर पहले से कुछ युवतियां थी। उसे एक दिन तो आराम से रखा गया। दूसरे दिन उसका माइंडवॉश करते हुए देह व्यापार के काम में शामिल होने को कहा गया। तब बालिका को पता लगा कि वह महिला सेक्स वर्कर है। तीसरे दिन उस पर महिला व अन्य लोगों ने देह व्यापार करने के लिए दबाव बनाया गया। इस दौरान वह मौका पाकर चुपचाप भाग गई।

ट्रेन में लावारिस देख लोगों ने चाइल्ड लाइन को बोला


महिला के घर से भागने के बाद बालिका रेलवे स्टेशन पर आ पहुंची। सामने से आती ट्रेन में बिना टिकट ही चढ़ गई। खाने तक के लिए पैसे नहीं थे। ट्रेन में लोग आ रहे थे, जा रहे थे। वह गुमसुम ही बैठी थी। कुछ लोगों ने उसे परिजनों के बारे में पूछा। तब लोगों ने चाइल्ड लाइन को सूचना दे दी। चाइल्ड लाइन ने नीमकाथाना जीआरपी को सूचना दे दी। इसके बाद बालिका को नीमकाथाना में ट्रेन के आने के बाद जीआरपी ने बरामद कर लिया। चाइल्ड लाइन ने बालिका को सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया। फिलहाल बालिका को शेल्टर होम में रखा गया है। उसके परिजनों के बारे में जानकारी ली जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned