राजस्थान में यहां टूटा सर्दी का रेकॉर्ड, माइनस 3.2 डिग्री पहुंचा तापमान

राजस्थान के शेखावाटी इलाके में जमा देने वाले जाड़े का सितम और कड़ाकेदार हो गया है। अंचल के फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में मंगलवार को सीजन के सबसे न्यूनतम तापमान का रेकॉर्ड टूट गया।

By: Sachin

Published: 29 Dec 2020, 10:29 AM IST

सीकर. राजस्थान के शेखावाटी इलाके में जमा देने वाले जाड़े का सितम और कड़ाकेदार हो गया है। अंचल के फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में मंगलवार को सीजन के सबसे न्यूनतम तापमान का रेकॉर्ड टूट गया। लगातार दूसरे दिन तापमान जमाव बिंदू के नीचे रहने के साथ माइनस 3.2 डिग्री दर्ज हुआ। जिसका असर जड़ पदार्थों से लेकर जन जीवन तक देखने को मिला। खेतों में फसलों पर ओस की बूंदे लडिय़ों सी जम गई। वाहनों के शीशे व बर्तन में रखा पानी बर्फ की मोटी परत के रूप में जम गया। सर्दी से बचने के लिए लोग सुबह देर तक रजाई में दुबके रहे। सूरज के दर्शन के बाद ही बाहर निकले। घरों से लेकर बाजार व गली- मोहल्लों से लेकर हाईवे तक लोग अलाव जलाकर सर्दी से बचने का जुगाड़ करते नजर आए। इससे पहले सुबह हल्की धुंध भी देखने को मिली। जो शहर के मुकाबले ग्रामीण इलाकों में ज्यादा प्रभावी रही। कई जगह तो दृश्यता भी काफी प्रभावित रही। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में भी मौसम ऐसा ही रहने का अनुमान है।

दो दिन रहेगी गलन भरी सर्दी
मौसम को लेकर मौसम वैज्ञानिक भी डरा रहा है। विभाग ने 29 और 30 दिसम्बर के लिए ओरेंज अलर्ट और साल के अंतिम दिन 31 दिसम्बर के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। विभाग के अनुसार मंगलवार से उत्तर दिशा से चलने वाली सर्द हवाओं के चलते राजस्थान में तापमान और गिर सकता है। पहले गिरावट पश्चिमी जिलों में देखी जाएगी उसके बाद पूर्वी जिलों में भी तापमान गिरेंगे। मंगलवार से प्रदेश में शीतलहर का प्रकोप एक बार फिर शुरू हो सकता है। प्रदेश के उत्तरी तथा पश्चिमी जिलों में पाला पडऩे की भी आशंका भी साफ नजर आ रही है।


पाले की चेतावनी व तापमान ने बढ़ाई चिंता
इधर, स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार शेखावाटी सहित प्रदेश के कई इलाकों में आने वाले दिनों में पाला पडऩे की आशंका है। जिसके बीच लगातार दूसरे दिन तापमान माइनस में रहने से किसानों की चिंता ज्यादा गहरा गई है। जमाव बिन्दू से नीचे पारा लगातार रहने पर उन्हें पाला पडऩे की चिंता सताने लगी है। जो फसलों को बर्बाद कर सकती है। किसानों का कहना है कि यदि कुछ दिन ऐसा ही हाल रहा तो पाला गिर सकता है। जो फसलों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है।

Weather forecast

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned