कोरोना से उबरा बाजार: तीन मॉल के साथ शहर में खुले 80 से ज्यादा नए प्रतिष्ठान

सीकर. कहते हैं संकट के दौर में भी संभावनाएं और अवसर समाहित होते हैं। बाजार के लिए कोरोना काल भी ऐसा ही चुनौती पूर्ण समय रहा है, लेकिन यहां का बाजार उम्मीदों के साथ खड़ा हो गया है।

By: Sachin

Published: 26 Oct 2020, 11:51 AM IST

सीकर. कहते हैं संकट के दौर में भी संभावनाएं और अवसर समाहित होते हैं। बाजार के लिए कोरोना काल भी ऐसा ही चुनौती पूर्ण समय रहा है, लेकिन यहां का बाजार उम्मीदों के साथ खड़ा हो गया है। नवरात्र के दस दिन में सीकर शहर के बाजार में 80 अधिक नए प्रतिष्ठान व दुकान खुले हैं। जिनमें तीन बड़े मॉल भी है, जो एक ही छत के नीचे ग्राहकों को सभी सामान उपलब्ध करवाने के दावा करते हैं। दूसरे प्रतिष्ठान भी डिजिटल प्लेटफार्म पर ग्राहकों को लुभाने के प्रयास में जुटे है। ऐसे में साफ जाहिर है कि आर्थिक संकट के इस दौर से बाजार को उबारने के लिए व्यवसायियों ने बड़ा निवेश किया है। एक औसत आंकड़ा देखा जाए तो नए प्रतिष्ठानों में ही 50 करोड़ से अधिक का निवेश किया गया है।

परचूनी सामान से लेकर निर्माण सामग्री पर जोर
शहर में पिछले दस दिन में खुले नए प्रतिष्ठानों की स्थिति देखे तो अधिकतर खाने-पीने के सामान की दुकानें हैं। शहर में स्टेशन रोड और पिपराली रोड पर तीन मॉल का भी उद्घाटन किया गया है, जिनमें सभी प्रकार का सामान उपलब्ध करवाया जा रहा है। व्यापार महासंघ के संयोजक नितेश पारमूवाल बताते हैं कि शहर की हर प्रमुख सड़क पर नवरात्र से दशहरा तक नई दुकान खुली है। शहर के स्टेशन रोड, बजाज रोड, पिपराली रोड, नवलगढ रोड पर अधिकतर प्रतिष्ठान घरेलू परचूनी के सामान के खुले हैं। घंटाघर व शीतला चौक क्षेत्र में तीन ज्वैलरी की दुकान खुली है। निर्माण सामग्री की दुकानें भी बड़ी संख्या में नई खुली है। अधिकतर दुकानें बाइपास पर खुली है। औसत आंकड़ा देखा जाए तो दस दिन में

80 से अधिक नई दुकानें खुली है। ऑटोमोबाइल के कारोबार में चमक

कोरोना संक्रमण के दौर के बीच ऑटोमोबाइल के कारोबार में भी चमक आई है। शहर में इलेक्ट्रोनिक बाइक सहित ऑटो मोबाइल के तीन नए शॉरूम खुले हैं। इसके साथ ही स्टेशन रोड पर इलेक्ट्रोनिक सामान के भी नए प्रतिष्ठान खुले हैं।

डिजिटल प्लेटफार्म से ग्राहक जुटाने का प्रयास

शहर के नए कारोबार डिजीटल प्लेटफार्म पर ग्राहकों को जुटाने के प्रयास में हैं। अधिकतर दुकानदारों ने फोन पर बुकिंग की सुविधा शुरू कर दी है। सामान की लिस्ट भेजने या नोट करवाने के बाद सामान पेक कर ग्राहक को सूचना दी जाती है। इसके साथ ही हॉम डिलेवरी का भी प्रचलन बढ़ा है।


नए प्रतिष्ठान खोलने वाले व्यापारियों से बातचीत
वर्तमान समय की मांग के अनुसार घरेलू जरूरतों का सारा सामान एक छत के नीचे उपलब्ध कराने के साथ कोरोना को देखते हुए ग्राहकों के लिए होम डिलीवरी व इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की सुविधा के साथ नया कारोबार शुरू किया है।

रोहित लोहिया, कारोबारी


ग्राहकों की सुविधा और कोरोना के खतरे को देखते हुए ऑनलाइन पेमेंट ओर होम डिलीवरी की सुविधा के साथ किराना का बिजनेस शुरू किया है। अब ग्राहक मोबाइल से अपना सामान घर बैठे मंगवा सकता है।

दौलत भोभरिया, कारोबारी


ग्राहकों के स्वास्थ और सुविधा के मद्देनजर अब ऑनलाइन पेमेंट के साथ फोन पर ऑर्डर लेने को प्राथमिकता दी जा रही है। ग्राहक पहले फोन पर आर्डर लिखा कर अपना सामान कम समय मे प्राप्त कर सकता है।
पवन हलवाई, कारोबारी

कोरोना के दौरान लगे लॉक डाउन के बाद अब नई उम्मीद के साथ नया बिजनेस शुरू किया है। ग्राहक को सोशल मीडियम के माध्यम से लगातार जानकारी दे कर बुकिंग की जा रही है।

ताराचंद कुमावत, कारोबारी

दुनिया भर में इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। भारतीय बाज़ार में हाल ही के दिनों में कई वाहन निर्माता कंपनियों ने अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को पेश किया है। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम व प्रदूषण के चलते लोग इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ तेजी से मुखर हो रहे हैं। इसी क्रम में सीकर में नया शो रूम खोला है।

अंशु अग्रवाल, कारोबारी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned