नवरात्रि स्पेशल: यहां साक्षात प्रकट हुई थी मां शाकंभरी

सीकर. शहर से करीब 50 किलोमीटर दूरी पर अरावली की पहाडिय़ों के बीच सिद्ध शक्ति पीठ माता शाकंभरी का प्राचीन मंदिर है। मां शाकंभरी के मंदिर की स्थापना सैकड़ों वर्ष पूर्व हुई थी।

By: Sachin

Published: 16 Oct 2020, 09:39 PM IST

सीकर. शहर से करीब 50 किलोमीटर दूरी पर अरावली की पहाडिय़ों के बीच सिद्ध शक्ति पीठ माता शाकंभरी का प्राचीन मंदिर है। मां शाकंभरी के मंदिर की स्थापना सैकड़ों वर्ष पूर्व हुई थी। माता के मंदिर में ब्रह्माणी व रूद्राणी के रूप में दो प्रतिमाएं विराजमान है। दोनों प्रतिमाओं के बीच में स्वत: प्रकट हुई एक छोटी मुख्य प्रतिमा विराजमान है। पंडित राजेन्द्र प्रसाद शर्मा ने बताया कि माता के हलवा पुरी का भोग लगता है। प्रतिदिन सुबह साढ़े पांच बजे और शाम को पौने सात बजे माता की आरती होती है। यहां आने वालों श्रद्धालुओं की माता मनोकामना पूर्ण करती है।

1300 वर्ष पूर्व हुआ जीर्णोद्धार
महंत दयानाथ ने बताया कि मंदिर की दीवारों में लगी पीतल की पट्टिका पर ब्राह्मी व पाली भाषा लिखी हुई है। जिसमें संवत 759 में उस समय के शासकों द्वारा माता के मंदिर का जीर्णोद्धार करवाने की जानकारी अंकित है। एक पट्टिका मंदिर के मुख्य दरवाजे तो दूसरी पट्टिका माता के मंदिर के गुंबज की दीवार में लगी हुई है।

बंद रहेगा मंदिर
शाकंभरी माता के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा कि शारदीय नवरात्र में श्रद्धालु माता के दर्शन नहीं कर सकेंगे। शनिवार से शुरू होने वाले शारदीय नवरात्र में भी श्रद्धालुओं के लिए मंदिर नहीं खोला जाएगा।


जीणमाता मंदिर में भी नहीं होंगे दर्शन
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जीणमाता मंदिर में भी नौ दिनों के लिए दर्शनों पर पाबंदी लगा दी है। 25 अक्टूबर तक मंदिर के पट बंद रखने का फैसला प्रशासन व मंदिर कमेटी ने लिया है। ऐसे में इसके बाद ही जीणमाता के दर्शन हो सकेंगे। गौरतलब है कि इससे पहले लॉकडाउन लागू होते ही जीणमाता मंदिर के बंद हुए दर्शन 15 सितंबर से ही फिर से शुरू किए थे। लेकिन, नवरात्रि में श्रद्धालुओं की भीड़ की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन व जीणमाता मंदिर कमेटी ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 9 दिन मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद रखने का फैसला लिया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned