खाकी ने उठाया एक नया कदम,अब ठेकेदार नहीं कर सकेंगे मनमानी

खाकी को दिखी दरार तो नपेंगे ठेकेदार,ठेकेदारों की मनमानी व घटिया निर्माण की शिकायतों को गंभीरता से लिया पुलिस मुख्यालय ने

By: vishwanath saini

Published: 11 Dec 2017, 02:47 PM IST

 

 

सीकर. खाकी को दिखी दरार तो नपेंगे ठेकेदार। ठेकेदारों की मनमानी व घटिया निर्माण की शिकायतों को गंभीरता से लिया पुलिस मुख्यालय ने,जी हां अब कुछ ऐसा ही होने जा रहा है। अब तक पुलिस के भवन बनाते समय मनमानी करने वाले ठेकेदार अब ऐसा नहीं कर सकेंगे। घटिया भवन का दंश झेल रही पुलिस अब भवन को कब्जे में लेने से पहले भवन के नल व दीवार से लेकर खिडक़ी दरवाजों तक की जांच करवाएगी। इसको लेकर पुलिस मुख्यालय ने आदेश जारी कर दिए हैं।


भवन को कब्जे में लेने से पहले एक चैक लिस्ट भरनी होगी। इसमें भवन की हर एक चीज की जांच कर रिपोर्ट भरी जाएगी। खास बात यह है कि राजपत्रित लेवल से नीचे के अधिकारी को भवन सुपुर्द भी नहीं किया जा सकेगा। जानकारी के मुताबिक पुलिस मुख्यालय ने आदेश जारी किए हैं। इसमें बताया गया हैं कि पीडब्ल्यूडी, आरएसआरडीसीसी, आरपीएचसीसीएल जैसे विभाग ही पुलिस के लिए भवनों का निर्माण करते हैं।


इन भवनों की सुपुर्दगी लेते समय उच्च अधिकारी स्वयं नहीं जाकर, अपने स्थान पर अधीनस्थ रीडर/ मुख्य आरक्षी, अथवा आरक्षी स्तर के कर्मी को भवन का कब्जा लेने के लिए भिजवा देते हैं। यह प्रक्रिया पूरी तरह गलत है। इन भवनों के निर्माण में कई तरह की खामियां रह जाती हैं और बाद में पुलिस को समस्या उठानी पड़ती है। इन समस्याओं के निराकरण के लिए अलग से पैसे खर्च करने पड़ते हैं।


ऐसे में अब इन भवनों का कब्जा लेने के लिए या तो जिले में नोडल अधिकारी बनाया जाए या फिर थाने का कोई राजपत्रित श्रेणी का अधिकारी ही इनका कब्जा ले। इसके लिए सैकड़ों बिुदूओं की एक चैक लिस्ट भी बनाई गई है। इस चैक लिस्ट में जो कमियां बताई जाएंगी उनकी पालना करनी होगी।

गंभीर निर्णय लिया पुलिस मुख्यालय ने
भवन में लगी हर एक चीज की करवानी होगी जांच, इसके बाद ही भवन लेगी पुलिस,
ठेकेदारों की मनमानी व घटिया निर्माण की शिकायतों को गंभीरता से लिया पुलिस मुख्यालय ने इस कठोर निर्णय की पालना होने पर ही भवन का कब्जा पुलिस लेगी।


इन सभी बिंदूओं की रिपोर्ट देनी होगी कब्जा देने से पहले
ठेकेदार को पुलिस को कब्जा देने से पहले भवन का पूरा निरीक्षण करवाना होगा। जिसमें दीवारें बिल्कुल सीधी हो, दीवारों में कहीं दरार नहीं, दिवारों में कही नमी अथवा रिसाव तो नहीं है, फर्स में कोई दरार तो नहीं है, फर्स पर पोलिस सही की गई हो, छत के निचले अथवा ऊपरी हिस्से में कहीं दरारें तो नहीं हैं,


छत में कहीं नमी अथवा रिसाव तो नहीं है। बारिश के पानी के लिए छत पर ढलान है या नहीं, सभी दरवाजें, खिड़कियां और वेंटिलेटरर्स आसानी से खुल व बंद हो रहे हैं या नहीं, इन पर रंग रोगन सही है या नहीं, आलमारियों के दरवाजे व दराज आसानी से खुल और बन्द हो रहे हैं या नहीं, नल सही लगे हैं या नहीं, शौचालयों की फीटिंग सही है
या नहीं। इन सभी कमियों पर ध्यान दिया जायेगा।

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned