अन्नदाता के साथ हो रही खुलेआम धोखाधड़ी,सरकारी कम्पनी भी साबित हुई दोषी,ये है कड़वा सच

नकली बीज व कीटनाशक बांटने के मामले में श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में गिरोह सक्रिय है।

By: vishwanath saini

Published: 10 Feb 2018, 10:06 AM IST

सीकर. भाषणों में किसानों की हमदर्द बनने वाली भाजपा सरकार के राज में धरती पुत्रों को जमकर नकली बीज व कीटनाशक बांटे जा रहे हैं। उच्च अधिकारियों की कथित मिलीभगत के चलते ऐसी बीज कम्पनियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई भी नहीं हो रही। ऐसे में हर साल मिलावट का यह खेल बढ़ता जा रहा है। हर साल नई-नई कम्पनियां आ रही है। चार साल में किसानों को करोड़ों रुपए का नुकसान हो गया, उनको उचित मुआवजा भी नहीं मिल रहा।

 

पीडि़त किसान कभी अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं तो कहीं जनप्रतिनिधियों से गुहार कर रहे हैं। कइयों ने तो कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाना शुरू कर दिया है। अनेक मामलों में अधिकारी खुद व कम्पनी का बचाव करते हुए किसानों को ही दोषी बता रहे हैं। किसी किसान का बाजरे का बीज नहीं उगा तो किसी का मोठ का। किसी फसल में फली नहीं आई तो अनेक फसल फूल आने से पहले ही सूख गई।

 

नकली बीज व कीटनाशक का सबसे बड़ा खेल सीमावर्ती श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले के किसानों के साथ खेला गया। यहां कपास व नरमे के मिलावटी बीज बांट दिए गए तो कीटनाशक भी घटिया दे दिया गया। कई मामलों में सरकारी कम्पनी भी दोषी साबित हुई। पिछले चार साल में 19 जिलों में नकली बीज व कीटनाशक के 66 मामले सामने आ चुके हैं। सांगानेर विधायक घनश्याम तिवाड़ी की ओर से विधानसभा में लगाए गए प्रश्न के जवाब में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।

 

चूरू की रतनगढ़ तहसील के गोगासर गांव के रोहिणी प्रसाद पारीक को मोठ का गलत बीज दे दिया गया। इस कारण उसकी कई टन मोठ की फसल नष्ट हो गई। चूरू जिले के ही राजगढ़ तहसील के रामसराताल गांव में एनएमसी सूरतगढ़ की ओर से विक्रय किए गए मोठ के बीज (किस्म आरएमओ257) के फली ही नहीं लगी। इस कारण किसानों को लाखों रुपए का घाटा हो गया। सीकर जिले के धोद व पिपराली के किसानों ने प्याज की फसल बोई थी, लेकिन टोरे व कंद नहीं बनने के कारण उनको लाखों रुपए का नुकसान हो गया।

 

किसानों ने इसकी शिकायत की तो जांच अधिकारियों ने किसानों को ही दोषी बता दिया। जांच अधिकारियों ने बताया कि सही समय पर पौध तैयार नहीं करने, सही समय पर रोपण नहीं करने व अत्याधिक रासायनिक उर्वरकों के इस्तेमाल के कारण फसल नष्ट हुई है। अब किसानों ने उपभोक्ता मंच में शिकायत दर्ज करवाई है।

 

 

sikar patrika news

गंगानगर व हनुमानगढ़ में गिरोह सक्रिय
नकली बीज व कीटनाशक बांटने के मामले में श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में गिरोह सक्रिय है। किसान संघर्ष समिति श्रीगंगानगर के जिला महामंत्री निकाराम ने शिकायत दी कि पूरे जिले में नकली बीज बांटने वाले माफिया सक्रिय हैं, इनके खिलाफ ठोस कार्रवाई की जानी चाहिए। चक 21 एमएल गंगानगर के ओमप्रकाश ने शिकायत दर्ज कराई कि बीटी कपास किस्म बायो 6317 मिलावटी दे दिया गया। चक 5 जेकेएम के किसान को सरसों का ऐसा बीज दे दिया गया कि फली व टहनियां पकने से पहले ही सूख गई।

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned