राजस्थान में की शामिल 148 सीएचसी... में से 50 में नहीं हो रही है ‘आरोग्य ऑनलाइन’ की पालना

राजस्थान में की शामिल 148 सीएचसी... में से 50 में नहीं हो रही है ‘आरोग्य ऑनलाइन’ की पालना

Vishwanath Saini | Publish: Mar, 14 2018 05:03:06 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

इसके आरोग्य ऑनलाइन में मरीजों की एंट्री नहीं करवाने के कारण उन्हें इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है।

 


सीकर. प्रदेश में राजकीय चिकित्सा संस्थान में मरीजों के चिकित्सा उपचार पूरी जानकारी एक ही नम्बर के माध्यम से सहजने की योजना आरोग्य ऑनलाइन राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों ने बिगाड़ दी है। इसके आरोग्य ऑनलाइन में मरीजों की एंट्री नहीं करवाने के कारण उन्हें इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में अब चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशालय ने नाराजगी जताते हुए सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को गंभीरता बरतने के लिए जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र जारी किया है।


यह है आरोग्य आनलाइन योजना
आरोग्य ऑनलाइन योजना में राजकीय चिकित्सा केन्द्रों पर आने वाले मरीजों को पर्ची के साथ एक सीआर (सेंट्रल रजिस्ट्रेशन नम्बर) दिया जाता है। सीआर नम्बर के आधार पर मरीज को आईपीडी व ओपीडी में उपचार किया जाता है। इसके अलावा ब्लड बैंक व प्रयोगशाला की सभी जांच भी सीआर नम्बर के माध्यम से होती है। इस सुविधा से मरीज जब भी राजकीय चिकित्सा संस्थान में उपचार के आधार पर आता तो सीआर नम्बर के आधार पर उसके पहले के उपचार के बारे में भी पूरी जानकारी मिल जाती है।


जिला चिकित्सालय से सीएचसी पर भी योजना शुरू
प्रदेश में आरोग्य ऑनलाइन योजना प्रथम फेज में राजकीय जिला व उप जिला चिकित्सालयों में शुरू की गई। इसके बाद 148 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर भी आरोग्य ऑनलाइन योजना शुरू की गई। इस योजना से मरीजों को फायदा मिलना शुरू भी हो गया। इसके अलावा दूसरे फेज में 50 सीएचसी में आरोग्य ऑनलाइन योजना शुरू की गई है।


सीएचसी में नहीं मिल पा रहा पूरा लाभ
आरोग्य ऑनलाइन योजना में रजिस्ट्रेशन नहीं होने पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशालय के संयुक्त शासन सचिव ने नाराजगी जताई तथा पत्र जारी कर आरोग्य ऑनलाइन वाली सभी सीएचसी प्रभारी से स्पष्टीकरण मांगने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया है। इसके अलावा 15 दिन में सभी सीएचसी पर आरोग्य ऑनलाइन सेवा सुचारू रूप से कार्य शुरू करवाने के निर्देश दिए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned