सीकर के इन दुकानदारों सहित मकान मालिकों को इसलिए मिले हाईकोर्ट के आदेश पर नोटिस

सीकर के इन दुकानदारों सहित मकान मालिकों को इसलिए मिले हाईकोर्ट के आदेश पर नोटिस

Vishwanath Saini | Publish: Mar, 14 2018 03:15:55 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

नोटिस में अतिक्रमियों को 15 व 16 मार्च को खंडेला तहसील में अपना पक्ष रखने के निर्देश दिए हैं।

कांवट. कस्बे के खंडेला, थोई व नीमकाथाना मार्ग पर सानिवि की भूमि पर किए गए अतिक्रमण को अब जल्द ही हटाया जाएगा। तीनों मार्गो पर हो रहे अतिक्रमण को लेकर प्रशासन सख्त हुआ है। हाईकोर्ट की पालना में मंगलवार को खंडेला तहसीलदार ने मुख्य सडक़ के दोनों ओर अतिक्रमण करने वाले 256 मकान मालिकों सहित दुकानदारों को नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में अतिक्रमियों को 15 व 16 मार्च को खंडेला तहसील में अपना पक्ष रखने के निर्देश दिए हैं। अतिक्रमण हटने के बाद कस्बे में आए दिन लगने वाले जाम से लोगों को राहत मिल सकेगी।

महाराष्ट्र में राजस्थान के युवक की हत्या, शव देख परिजनों ने मचा दिया बवाल

उल्लेखनीय है कि कांवट में आए दिन नियमों को ताक पर रखकर सडक़ किनारे बहुमंजिला कॉम्पलेक्स का निर्माण किया जा रहा है। बस स्टैंड पर नियम विरुद्ध व सानिवि की सीमा में दर्जनों कॉम्पलेक्स बन चुके हैं। ग्राम पंचायत कांवट ने भी पूर्व में नियम विरुद्ध बने कॉम्पलेक्स मालिकों को दो बार नोटिस जारी कर दस्तावेज पेश करने के निर्देश दिए थे, लेकिन अतिक्रमियों ने नोटिस का जवाब नहीं दिया। इसके बाद अतिक्रमण हटाने के लिए कांवट सरपंच मीना सैनी ने 31 अगस्त 2017 को हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।


chaitra navratri 2018 : सीकर में इसलिए 24 वर्षो से माता की एक ही मूर्ति का हो रहा
नवरात्रि पूजन,जानिए क्या है रहस्य


याचिका के बाद हाईकोर्ट के निर्देश पर राजस्व व सानिवि ने अतिक्रमण को चिन्हित कर नोटिस जारी किए हैं। अब हाईकोर्ट मेें याचिका पर सुनवाई 20 मार्च को होगी। उधर तहसीलदार मन्नीराम खींचड ने बताया कि हाईकोर्ट की पालना में कांवट में मुख्य सडक़ के दोनों ओर सानिवि की भूमि पर अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों सहित मकान मालिकों को नोटिस दिए हैं। हाईकोर्ट से निर्देश मिलते ही जल्द ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय की परीक्षा में पत्नी की जहां परीक्षा, वहां पति को लगाया वीक्षक

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned