अब 25 हजार श्रद्धालु कर सकेंगे खाटूश्यामजी के दर्शन, मेले में फिर बढ़ेगी संख्या

(Now 25 thousand devotees will be able to see Baba Shyam in Khatushyamji) खाटू में बाबा श्याम (Khatushyamji, sikar) के दर्शन अब पहले से ज्यादा श्रद्धालु कर सकेंगे। श्याम मंदिर कमेटी ने अब मंदिर में रोजाना 25 हजार श्रद्धालुओं के दर्शन की व्यवस्था कर दी है।

By: Sachin

Published: 28 Feb 2021, 07:00 PM IST

सीकर/खाटूश्यामजी. खाटू में बाबा श्याम के दर्शन अब पहले से ज्यादा श्रद्धालु कर सकेंगे। श्याम मंदिर कमेटी ने अब मंदिर में रोजाना 25 हजार श्रद्धालुओं के दर्शन की व्यवस्था कर दी है। जो सोमवार से ही लागू हो जाएगी। हालांकि बाबा श्याम के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं को अब भी श्याम मंदिर कमेटी की वेबसाइट पर अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण के टोकन के आधार पर ही दर्शनार्थी को मंदिर में प्रवेश मिल सकेगा। श्याम मंदिर कमेटी अध्यक्ष शंभु सिंह चौहान ने बताया कि इसके लिए मंदिर कमेटी ने अपनी वेबसाइट को भी अपडेट कर दिया है। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच जिला प्रशासन व मंदिर कमेटी ने ऑनलाइन पंजीकरण के जरिये श्याम मंदिर में सीमित दर्शनों की व्यवस्था शुरू की थी। जो धीरे- धीरे बढ़ाई जा रही है।

साढ़े सात हजार श्रद्धालु बढेंगे
दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाने के फैसले से मंदिर में अब रोजाना साढ़े सात हजार ज्यादा श्रद्धालुओं को बाबा श्याम के दर्शन हो सकेंगे। इससे पहले मंदिर में तत्काल पंजीकरण सहित रोजाना 17 हजार 500 भक्तों को आठ चरणों में बाबा श्याम के दर्शन प्राप्त हो रहे थे। लेकिन, 25 हजार दर्शनार्थियों के पंजीकरण की व्यवस्था से अब यह आंकड़ा बढ़ जाएगा। मंदिर कमेटी के अनुसार दर्शन अब भी आठ चरण में होंगे।

17 से लक्खी मेला, फिर बढ़ेगी संख्या
खाटूश्यामजी के फाल्गुनी लक्खी मेले में दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की अधिकतम संख्या को फिर बढ़ाया जाएगा। जिला प्रशासन व मंदिर कमेटी की बैठक के अनुसार मेले के शुरुआती दौर में एक दिन में 35 हजार श्रद्धालुओं को बाबा श्याम के दर्शन कराने की व्यवस्था की जाएगी। जिसे श्रद्धालुओं की संख्या के हिसाब से आगे बढ़ाया जा सकेगा। खाटूश्यामजी का मेला 17 से 25 मार्च तक आयोजित होगा।

मेले में रहेगी पाबंदियां
कोरोना काल में आयोजित होने वाले फाल्गुनी लक्खी मेले में इस पर कई तरह की पाबंदी भी रहेगी। मसलन श्रद्धालुओं को 72 घंटे के भीतर को कोविड 19 की जांच में निगेटिव होने का प्रमाण पत्र दिखाना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क अनिवार्य होगा। खाटूश्यामजी तथा रास्ते में भंडारा नहीं लगाया जा सकेगा। अस्थाई दुकानों के साथ, झांकियों व श्याम कुंड में स्नान की भी पाबंदी रहेगी। खाटू मेले के दौरान प्रसाद और फूल मालाएं नहीं चढ़ाया जा सकेगा। खाटूश्यामजी की धर्मशालाओं में श्रद्धालुओं के ठहरने की संख्या भी क्षमता से 50 फीसदी की गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned