जिस हवेली के विदेशी हैं कायल आजकल वहां पर्यटक नहीं किसी और का है जमघट!

फतेहपुर की नादिन ली प्रिंस हवेली की गली में परेशान हैं लोग। सालभर से प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान।

By: Gaurav kanthal

Published: 01 Jul 2019, 06:14 PM IST

फतेहपुर. कस्बे में स्थित नादिन ली प्रिंस हवेली की गली के रहवासी नरकीय जीवन से भी बदतर जीवन जीने को मजबूर हैं। ठेकेदार की कारगुजारी व प्रशासन की बेरुखी के कारण जनता खासी परेशान हो रही है। जानकारी के अनुसार उक्त सडक़ से बरसात के दिनों में भारी वाहन गुजरते थे, इसके चलते वह पूरी तरह से टूट गई थी।
करीब 1 साल पहले उक्त सडक़ को मय नाली निर्माण के बनाने के लिए दुबारा टेंडर किये गए। नगर पालिका की ओर से उसके साथ ही पड़ोस के मुख्य रास्ते की सडक़ के भी टेंडर किए गए। प्रमुख सडक़ होने के कारण आंखों के अस्पताल से लेकर ठलुआ आश्रम तक कि सडक़ को पहले बनाया गया ताकि वैकल्पिक रास्ता चालू रह सके। वैकल्पिक रास्ते के तौर पर बड़े वाहन भी यहाँ से गुजरे तो सडक़ व नाली टूट गई और पानी भरा रहने लग गया। उक्त सडक़ का निर्माण कई महीनों पहले पूरा हो गया। उसके बाद ठेकेदार ने नादिन ली प्रिंस हवेली की गली की रोड को बनाने के लिए पूरी तरह से तोड़ दिया। इसके बाद न ही मलबा उठाया व न ही कार्य शुरू किया। इसके बाद बरसात आने से पूरी गली में पानी भर गया। अब वह गंदा पानी बदबू मार रहा है। मोहल्ले के लोगों ने कई बार शिकायत की लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। उक्त गंदे पानी मे कई तरह के जानवर भी पैदा हो गए। अब मोहल्ले के लोगो का घर के बाहर निकलना भी मुश्किल होता जा रहा हैं।


पर्यटकों की पसंदीदा है नादिन ली हवेली
फतेहपुर कस्बे में स्थित नादिन ली प्रिंस की हवेली विदेशी पर्यटकों के पसंदीदा स्थलों में से एक हैं। उस हवेली में रोजाना सैकड़ों देशी व विदेशी पर्यटक आते हैं। लेकिन खराब रास्ते की वजह से उन्हें खासी परेशानी होती है।
हालात यह हैं कई बार तो कीचड़ में विदेशी पर्यटक गिर भी जाते हैं। उक्त विश्व प्रसिद्ध हवेली में आने का एक मात्र रास्ता होने के के बाद भी उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं हैं। उक्त हवेली की गली से लोगों के साथ साथ जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों का आना जाना भी लगा रहता हैं। कई अधिकारी व मजिस्ट्रेट उक्त हवेली को देखने आते हैं। इसके बाद भी उक्त गली की ऐसी दुर्दशा देखकर किसी ने कुछ करने की जहमत तक नहीं उठाई। स्थानीय लोगो की पीड़ा के दर्द को बांटने के लिए कोई आगे नहीं आया।

 

Gaurav kanthal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned