अब बरामदों में मरीज नहीं होंगे भर्ती...एक ही जगह शिफ्ट होगा फीमेल मेडिकल वार्ड

शेखावाटी के सबसे बड़े एसके चिकित्सालय में फीमेल मेडिकल वार्ड को पहली मंजिल से नीचे शिफ्ट किया जाएगा।

By: Gaurav kanthal

Published: 05 Jul 2019, 06:24 PM IST

सीकर. कल्याण अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ और परिजनों के बीच अक्सर होने वाले विवाद के कारण फीमेल मेडिकल वार्ड को पहली मंजिल से नीचे शिफ्ट किया जाएगा। गौरतलब है कि पहली मंजिल पर वार्ड होने से अस्पताल के ट्रोमा में मौजूद चिकित्सक की निगरानी में नहीं रह पाता है। ऐसे में फीमेल मेडिकल वार्ड को अस्पताल भवन से वार्ड को पुराने एमटीसी भवन में शिफ्ट किया जा रहा है। जिससे अलग-अलग कमरों में भर्ती सभी प्रकार के मरीज एक जगह ही भर्ती होंगे। जिससे मरीज को नर्सिंग स्टाफ के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। फीमेल मेडिकल वार्ड के नए भवन में शिफ्ट होने से वार्ड में मेडिकल कॉउंसिल ऑफ इंडिया के नाम्र्स के अनुसार सुविधाएं भी मिलने लगेंगी। इसके अलावा दो बैड के पास जगह होने से मरीज और परिजनों को फायदा होगा। कल्याण अस्पताल के फीमेल मेडिकल वार्ड में सबसे ज्यादा रोगी हर समय भर्ती रहते हैं।
अब मरीजों को बरामदों से मिलेगी निजात
मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करते समय एमसीआई टीम ने बरामदों में भर्ती मरीजों को लेकर आपत्ति जताई थी लेकिन फीमेल मेडिकल वार्ड के शिफ्ट होने से मेल मेडिकल वार्ड के बरामदों में लगाए गए बैड को शिफ्ट किया जाएगा। इससे बरामदों में भर्ती मरीजों को फायदा होगा। इसके अलावा गंभीर और स्वस्थ मरीजों को संक्रामक बीमारियों से दूर रखा जा सकेगा।
एसके अस्पताल में हो रहीं 56 प्रकार की जांच
सीकर. शेखावाटी के सबसे बड़े कल्याण अस्पताल में मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना के तहत 56 प्रकार की जांच निशुल्क हो रही है। यह बात अस्तपाल में आने वाले मरीजों को सटीक इलाज मिले इसके लिए गुरुवार को अस्पताल के पीएमओ कक्ष में मुख्यमंत्री जांच योजना की समीक्षा बैठक हुई। बैठक में पीएमओ डॉ. अशोक चौधरी ने बताया कि इन जांचों के अलावा इंट्रीग्रेटेड डिजीज सर्विलेंस प्रोग्राम के तहत ब्लड कल्चर, स्टूल कल्चर, यूरिन कल्चर, सीएसएफ कल्चर, स्क्रबटाइफस, स्वाइन फ्लू जैसी जांच भी निशुल्क हो रही है।

Gaurav kanthal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned