अब होंगे स्कूलों में वार्षिकोत्सव

सरकारी स्कूलों में 20 फरवरी से 20 मार्च तक होंगे आयोजन
ऑनलाइन शिक्षण में शिक्षकों और विद्यार्थियों को समारोह में मिलेंगे पुरस्कार

By: Suresh

Published: 20 Feb 2021, 06:19 PM IST

सीकर/ लक्ष्मणगढ. कोरोना काल के लंबे इंतजार के बाद अब बच्चों के लिए फिर से स्कूल खोल दिए गए हैं। स्कूलों के खुलने के साथ ही अब निजी स्कूलों की तर्ज पर सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को प्रोत्साहन एवं प्रतिभाओं को निखारने के लिए वार्षिकोत्सव करवाने की कवायद शुरू हो गई है। राज्य परियोजना निदेशक एवं आयुक्त डॉ भंवरलाल की ओर से जारी आदेशों में स्कूलों में वार्षिकोत्सव की शुरूआत इस वर्ष 20 फरवरी से 20 मार्च के बीच होगी। इसके लिए प्रति स्कूल सरकार की ओर से बजट मिलेगा। इसके साथ ही आयोजन में अगर ज्यादा खर्च होता है तो भामाशाहों की मदद ली सकेंगी।
शिक्षक व विद्यार्थियों का होगा सम्मान
कार्यक्रमों में कोरोनाकाल में ऑनलाइन शिक्षण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों के साथ प्रतिभावान विद्यार्थियों का सम्मान किया जाएगा। जिला, ब्लॉक एवं पंचायत स्तर पर होने वाले इस आयोजन में भामाशाहों एवं दानदाताओं को प्रेरित करने के साथ माध्यमिक एवं प्रारंभिक शिक्षा के स्कूलों, कस्तूरबा गांधी स्कूलों एवं स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूलों के लिए प्रति स्कूल 10-10 हजार रुपए का बजट उपलब्ध कराया जाएगा। समारोह में विधायक, स्थानीय जनप्रतिनिधि, भामाशाह, दानदाता, समाजसेवी, पूर्व छात्र, सीएसआर कंपनियों के प्रतिनिधि, एसएमसी-एसडीएमसी के सदस्य, अभिभावक, प्रतिष्ठित व्यक्ति, सामाजिक मुखिया आदि को अनिवार्य रूप से आमंत्रित करना होगा।
तय होंगी जिम्मेदारियां
आदेश के अनुसार उत्कृष्ट, ग्रामीण एंव शहरी आदर्श स्कूलों में वार्षिकोत्सव एंव पुरस्कार वितरण समारोह के लिए जिला, ब्लॉक एंव पंचायत स्तर पर त्रि-स्तरीय आयोजन समितियों का गठन किया जाएगा। आयोजन में तीनों कमेटियां माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के कार्पोरेट सोशल रेस्पोंसिबिलिटी (सीएसआर) सेक्शन द्वारा आयोज्य एल्युमिन मीट (पूर्व विद्यार्थी मंच) के उत्तरदायित्वों का भी निर्वहन करेंगी।
जिला स्तरीय 15 सदस्यीय समिति मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में कार्य करेगी। यह समिति राज्य परिषद से प्राप्त समारोह की राशि को संबंधित स्कूलों के एसडीएमसी या एसएमसी खातों में स्थानांतरित करेगी। ब्लॉक स्तर पर 11 सदस्यीय समिति मुख्य ब्लॉक शिक्षाधिकारी की अध्यक्षता में कार्य करने के साथ ब्लॉक स्तर पर निर्मित विस्तृत कार्य योजना को शहरी आदर्श स्कूल संस्था प्रधान एंव पीईईओ के साथ साझा करेगी।
आयोजन के लिए मिलेंगे 10 हजार
स्कूलों में वार्षिकोत्सव के आयोजन को लेकर स्कूल के लिए 10 हजार का बजट मिलेगा। उपलब्ध कराई एवं जुटाई गई इस राशि का उपयोग आयोजन के लिए मुद्रण कार्य, मंच साज-सज्जा, टेंट व्यवस्था, साउंड सिस्टम, वीडियो-फोटोग्राफी, बैठक व्यवस्था, जलपान के साथ बच्चों के लिए पुरस्कार के लिए शील्ड, स्मृति-चिन्ह पर किया जाएगा।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned