scriptOne-third of water-borne diseases remained a concern during the Corona | Waterborne News: कोरोनाकाल में एक तिहाई रह गईं जलजनित बीमारियां, चिंता...हम दूसरे स्थान पर | Patrika News

Waterborne News: कोरोनाकाल में एक तिहाई रह गईं जलजनित बीमारियां, चिंता...हम दूसरे स्थान पर

राहत के साथ अलार्म : कम हुए हेपेटाइटिस ए और ई के मामले, लेकिन स्वच्छ पेयजल आपूर्ति अब भी बड़ी चुनौती
खास खबर

सीकर

Published: April 14, 2022 09:48:34 am

आशीष जोशी
सीकर. कोरोनाकाल में जब लोग बाहर खाने-पीने से परहेज करने लगे तो पिछले दो सालों में जलजनित Waterborne बीमारियों से पीडि़त रोगियों की संख्या एक तिहाई रह गईं हंै। वर्ष 2019 की तुलना में वर्ष 2021 में गंभीर अतिसार (गंभीर डायरिया) रोगों में करीब 65 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज हुई है। इस राहत के बीच चिंता की बात यह है कि जलजनित बीमारियों के मामले में राजस्थान Rajasthan तीसरे से अब दूसरे स्थान पर आ गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय Union Ministry of Health and Family Welfare के राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र National Center for Disease Controlकी ताजा रिपोर्ट पेयजल के मामले में प्रदेश को अलर्ट कर रही है। कोरोनाकाल में प्रदेश में जलजनित लेप्टोस्पाइरोसिस leptospirosis (दूषित पानी से फैलने वाला संक्रामक रोग) के मामले बढ़े हैं। रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में पिछले दो साल में हैजा का एक भी मामला सामने नहीं आया। वहीं राहत की बात यह भी है कि कोरोनाकाल में हेपेटाइटिस ए hepatitis A और ई के मामलों में भी गिरावट दर्ज हुई है। वर्ष 2019 में प्रदेश में हेपेटाइटिस ए hepatitis A के 628 व हेपेटाइटिस ई hepatitis E के 245 मामले सामने आए थे। जबकि 2020 में 122 और 25 तथा वर्ष 2021 में 107 व 15 केस ही रिपोर्ट हुए। जो गुजरात, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिमी बंगाल और मध्यप्रदेश जैसे कई राज्यों की तुलना में काफी कम है।

,
Waterborne News: कोरोनाकाल में एक तिहाई रह गईं जलजनित बीमारियां, चिंता...हम दूसरे स्थान पर,Waterborne News: कोरोनाकाल में एक तिहाई रह गईं जलजनित बीमारियां, चिंता...हम दूसरे स्थान पर


इधर, डेंगू से सर्वाधिक मौतें प्रदेश में
इधर, वर्ष 2021 में देश में डेंगू Dengue से सर्वाधिक मौतें राजस्थान में हुर्ईं। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में पिछले साल डेंगू से सर्वाधिक 96 रोगियों की मौत हुई। जबकि महाराष्ट्र में 42 और यूपी में 29 डेंगू रोगियों ने दम तोड़ा। पिछले साल देश में डेंगू से कुल 280 लोगों की मृत्यु हुई थी।

एक्सपर्ट व्यू : आम लोग भी करवाए पानी की जांच
कोरोनाकाल में ज्यादातर लोग बाहर नहीं जा सके, इस वजह से सीधे तौर पर जलजनित बीमारियों के आंकड़ों में कमी आई है। गर्मी बढऩे के साथ ही पानी के सार्वजनिक संसाधनों पर प्रेशर बढऩे लगा है। ऐसे में अब जलदाय विभाग से लेकर चिकित्सा महकमे और सामाजिक संगठनों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। जल जनित बीमारियों से बचने के लिए आमजन को भी पानी के नमूनों की जांच करवानी चाहिए। ताकि आम दिनों में भी जलजनित बीमारियां पांव नहीं पसार सके।
आरके शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता व सेवानिवृत्त भूजल वैज्ञानिक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.