Changemaker 2.0: सीवरेज के गड्ढ़ों ने बदहाल कर दी शहर की सूरत जख्म अब नासूर बनने लगे हैं

Changemaker 2.0 : अब नगर निकाय चुनाव सन्निकट है। नवंबर में ही निकाय चुनाव होंगे। इसी अनुपात में चुनावों को लेकर जहां कार्यकर्ताओं में सक्रियता बढ़ गई है। वहीं आम अवाम भी जागरूक हो उठा है।

सीकर.

ChangeMaker 2.0 : अब नगर निकाय चुनाव सन्निकट है। नवंबर में ही निकाय चुनाव ( Local Body Election 2019 ) होंगे। इसी अनुपात में चुनावों को लेकर जहां कार्यकर्ताओं में सक्रियता बढ़ गई है। वहीं आम अवाम भी जागरूक हो उठा है। मंगलवार को पत्रिका टीम निकाय चुनावों को लेकर चलाए जा रहे विशेष अभियान हमारा हीरो ही हमारा नेता अभियान के तहत शहर में निकली, तो शहर की कई समस्याएं उभर कर सामने आई। साथ ही लोगों से चर्चा की, तो उनकी अपेक्षाएं भी खुली। लोगों को सबसे ज्यादा पीड़ा सीवरेज के बेतरतीब प्लान को लेकर थी। पूरा शहर खोद दिया गया और सीवरेज का काम अभी भी पूरा नहीं हुआ।

Changemaker 2.0 : सीवरेज के गड्ढ़ों ने बदहाल कर दी शहर की सूरत जख्म अब नासूर बनने लगे हैं

सीवरेज के पाइप डालने के लिए खोदी गई सडक़े लोगों की राह में बड़ी परेशानी बनी हैं। वार्ड पांच के क्षेत्र बकरामंडी, इस्लामिया कॉलेज से सटे इस वार्ड के लोग पानी के भराव से परेशान है। लोगों का कहना है कि बकरामंडी क्षेत्र के इस नाले के लिए पार्षद मुस्ताक तंवर ने करीब ढ़ाई करोड़ रुपए स्वीकृत करवाए हैं। लोगों कहना कि नाले पर एक करोड़ रुपए की राशि पहले ही खर्च हो गई। अभी बजट में और पैसा स्वीकृत हुआ है, लेकिन इसका टेंडर नहीं हो पाया। टेंडर हो जाता तो जनता को समस्या से कुछ राहत मिलती।


जनता की जुबानी
वार्ड के लोगों ने क्षेत्र के विकास की बात मानी है, लेकिन समस्याएं भी कम नहीं है। वार्ड के निवासी मोहम्मद फारुक का कहना है कि क्षेत्र में सडक़ों विकास हुआ है। हालांकि कचरा संग्रहण की समस्या है। मोहम्मद आरिफ का कहना है कि सीवरेज के लिए क्षेत्र की सडक़ें खोद दी गई। सीवरेज के कनेक्शन भी नहीं किए गए हैं। मोहम्मद शरीफ ने कहा क्षेत्र में पेयजल की समस्या है। अब्दुल कलाम का कहना है कि पार्षद से कोई शिकायत नहीं है।

नेताजी के घर के बाहर चमाचम, बकरा मंडी में सडक़ गायब
वार्ड परिक्रमा के दौरान पार्षद की गली का मुआयना किया गया। जहां पार्षद के घर के बाहर ं माकूल सफाई व्यवस्था मिली, तो सडक़ भी चमाचम थी। वहीं, बकरा मंडी और आसपास के कुछ इलाकों में सडक़ टुकड़ों के रूप में मिली। जहां लोग गंदे पानी भराव की शिकायत भी करते मिले।


पार्षद के दावे:
20 साल से जनता की सेवा में हूं। वार्ड में सडक़, नालियों और रोशनी की समस्या दूर हुई है। आगे चुनाव जीतता हूं तो इस्लामिया कॉलेज से लेकर बकरा मंडी होते हुए बुच्याणी तक नाले का निर्माण करवाना प्राथमिकता होगा। ताकि पानी भराव की समस्या से निजात मिले। -मुस्ताक तंवर, पार्षद

Changemaker 2.0 : सीवरेज के गड्ढ़ों ने बदहाल कर दी शहर की सूरत जख्म अब नासूर बनने लगे हैं

वार्ड अंकवाणी:
कुछ ऐसे नंबर दिए लोगों ने अपने पार्षद को
बकरा मंडी क्षेत्र में अंक: 40 फीसदी
इस्लामिया कॉलेज के पीछे: 70 फीसदी

Changemaker 2.0 : सीवरेज के गड्ढ़ों ने बदहाल कर दी शहर की सूरत जख्म अब नासूर बनने लगे हैं

वार्ड एजेंडा:
वार्डवासियों के मुताबिक वार्ड के कुछ इलाकों में सडक़ और पेयजल प्रमुख समस्या है। नाली की कमी से बरसात में पानी भी घरों तक पहुंच जाता है। ऐसे में नगर परिषद चुनाव में उनकी पहली पसंद वही उम्मीदवार होगा, जो उनकी इस समस्या के समाधान के लिए उन्हें आश्वस्त करेगा।


हिसाब दो:
इस्लामिया स्कूल के पीछे वाले इलाके में लोग पार्षद मुश्ताक के काम से खुश है। लेकिन, इस्लामिया स्कूल के सामने के क्षेत्र, बकरा मंडी और बुच्याणी इलाके के लोगों में पार्षद और परिषद दोनों के खिलाफ कुछ आक्रोश भी है। लोगों का कहना है कि क्षेत्र में सडक़ें टूट चुकी है, तो नालों की कमी से पानी भराव बड़ी समस्या बना हुआ है। लेकिन, इस समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा।

Naveen Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned