इसलिए छह साल से परेशान हो रहे हैं फतेहपुर के लोग,

छह साल पहले शुरू हुए सीवरेज का पहला चरण भी अधूरा

By: Vinod Chauhan

Updated: 03 Mar 2019, 07:15 PM IST

फतेहपुर.

फतेहपुर कस्बे में वर्ष 2012 में शुरू हुई सीवरेज परियोजना का पहला चरण छह साल बाद भी पूरा नहीं हुआ। पूरे क्षेत्र को गंदे पानी की निकासी की योजना की जरूरत थी। राजस्थान आधारभूत विकास परियोजना के चौथे चरण में फतेहपुर को शामिल करने पर पानी निकासी के लिए बजट पास होने की उम्मीद जगी थी। लेकिन सरकार ने पानी निकासी की योजना के बजाय सीवरेज परियोजना के दूसरे चरण को मंजूरी दे दी। इसके लिए 97 करोड़ रुपए का बजट पास कर दिया। यानी शहर के पानी निकासी की गंभीर समस्या को फिर नजर अंदाज कर दिया। वर्षो से बरसाती पानी निकासी की समस्या से जूझ रहे लोगो को कोई राहत नहीं मिल पाई। गुरुवार को जयपुर में हुई बैठक में पानी निकासी के बजाय सीवरेज के दूसरे चरण को मंजूरी मिल गई। जबकि शहर को सबसे ज्यादा पानी निकासी की योजना की जरूरत है।
बरसात के चार महीने रहती है भारी परेशानी
फतेहपुर कस्बे की बसावट कटोरा नुमा हैं। ऐसे में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर पानी जमा हो जाता हैं। हर वर्ष पानी निकासी पर नगर पालिका के द्वारा लाखों रुपये खर्च होते हैं। छतरिया बस स्टैंड पर पानी भराव की वजह से चार माह तक तो बस स्टैंड भी स्थानांतरित करना पड़ता हैं। इसके अलावा मंडवा व नवलगढ़ पुलिया, पुराने सिनेमा हाल के पास सहित कई इलाकों में भारी मात्रा में पानी भर जाता हैं। इससे लोगो को भारी परेशानी होती हैं। कई दुकानों व घरों में पानी चला जाता हैं। इससे नुकसान होता हैं।
पहल चरण में भी हुए थे परेशान
फतेहपुर में सीवरेज 2012 में सीवरेज शुरू हुई थी। एक साल के भीतर सीवरेज का कार्य पूर्ण करना था। पहले चरण में कस्बे में सीवरेज लाइन डालनी थी। कंपनी ने निर्धारित समय पर काम तो शुरू कर दिया लेकिन जबरदस्त मनमानी की। उक्त सीवरेज का कार्य आज भी पूरा नहीं हो पाया ना ही सीवरेज शुरू हो पाई है। कई जगह चैम्बर नहीं बनाएं तो कई जगह पाइप नहीं डाले। कई गलियों में आज तक सडक़ नहीं बनाई गई। ऐसे में लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते सीवरेज के नाम से ही लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें दिख रही है।
जिम्मेदार कहते हैं

जयपुर में हुई बैठक में पानी निकासी की बात उठाई गई थी। जिला कलक्टर के प्रतिनिधि के तौर पर गए कमिश्रर ने भी उक्त बात उठाई थी। मैंने भी निवेदन किया था कि बरसात में पूरे शहर के हाल बिगड़ जाते है, पानी निकासी की समस्या बड़ी है। लेकिन उच्चाधिकारियों ने कहा कि उसके लिए अभी बजट नहीं है।
नवनीत कुमावत, ईओ, नगर पालिका फतेहपुर
पानी निकासी के लिए योजना में कोई स्कीम नहीं है। पहले फेज में रही कमी को भी पूरा किया जाएगा। अतिरिक्त स्वीकृति जारी की गई है। पानी निकासी की बात उठाई थी लेकिन अधिकारियों ने कहा कि उस पर चर्चा करेंगे। मैनें कहा कि प्रथम चरण में अनियमितताएं हुई है। इस पर उन्होंने कहा कि दूसरे फेज में कमियों को दूर कर दिया जाएगा।
हाकम अली खां, विधायक फतेहपुर

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned