निजी स्कूल संचालकों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

राजस्थान के सीकर जिले में विभिन्न मांगों को लेकर निजी स्कूल संचालकों ने आज जगह-जगह रैली निकालकर मुख्यमंत्री के नाम विधायकों व प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे।

By: Sachin

Published: 12 Jul 2021, 11:20 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में विभिन्न मांगों को लेकर निजी स्कूल संचालकों ने आज जगह-जगह रैली निकालकर मुख्यमंत्री के नाम विधायकों व प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे। जिसमें आरटीई की पुनर्भरण राशि समय पर जारी करने, स्थानातंरण प्रमाण पत्र बिना बच्चों के प्रवेश पर रोक लगाने सहित विभिन्न मंागे रखी गई। मांग पूरी नहीं करने पर राज्यपाल के घेराव सहित उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई। इस दौरान सीकर शहर में स्कूल शिक्षा परिवार के बैनर तले स्कूल संचालकों ने शिक्षा मंत्री के खिलाफ नारे लगाते हुए कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। जिलाध्यक्ष सुरेश चौधरी ने बताया कि शिक्षा विभाग की निर्देशिका व समय समय पर जारी सरकारी आदेशों में विरोधाभास की वजह से निजी शिक्षण संस्थाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मामले अदालतों तक पहुंच रहे हैं। ऐसे में सरकार को पुराने आदेशों की पालना करवाने के ही आदेश फिर से जारी करने चाहिए।


अस्थाई प्रवेश पर लामबंद
कक्षा एक से आठवीं तक बिना दस्तावेजों के अस्थाई प्रवेश देने व बिना टीसी प्रवेश लेने सहित विभिन्न नियमों के खिलाफ नीमकाथाना में भी निजी स्कूलों संचालकों ने मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री के नाम विधायक सुरेश मोदी व एसडीएम बृजेश गुप्ता को ज्ञापन सौंपा। जिसमें निजी शिक्षण संस्थान विरोधी नियमों को वापस लेने की मांग की गई। ज्ञापन देने वालो में एसएसपी अध्यक्ष कृष्ण कुमार खटाना, संयुक्त मोर्चा संयोजक रावत सिंह राणा, जयप्रकाश यादव, दिनेश देशवाल, नागेंद्र सिंह, मारूराम सैनी एलव कुमार झा, मनमोहन सैनी, जयराम गुर्जर अध्यक्ष पाटन ब्लॉक, मनोज कुमार सहित कई स्कूल संचालक मौजूद रहे।

रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन
फतेहपुर में निजी स्कूलों की विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को निजी स्कूल संचालकों ने रैली निकालकर एसडीएम व विधायक को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि अगर सरकार उनकी मांगें नहीं मानती है तो राजभवन का घेराव किया जायेगा। जानकारी के अनुसार सोमवार को निजी स्कूल संचालकों ने स्कूल शिक्षा परिवार के बैनर तले रैली निकालकर नारेबाजी करते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। एसडीएम को ज्ञापन देने के बाद नगर पालिका में विधायक हाकम अली खां को ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रकाशित शिक्षा संहिता में विभिन्न नियम, नियमावली जारी कर रखे हैं। उन्हीं नियमों की पालना की बजाए समय समय पर अन्य आदेश जारी कर दिये जाते हैं। इसके चलते अभिभावक व स्कूल संचालकों के बीच विवाद की स्थिति बन जाती है। उन्होंने बताया कि टीसी बिना प्रवेश का नियम वापस लेने, आरटीई का भुगतान शीघ्र करने, भौतिक सत्यापन की कमियों को दूर करने के लिए समय देने, 16 जुलाई से स्कूल खोलने, जनघोषणा पत्र में शामिल घोषणाओं को शीघ्र पूरा करने की मांग की गई। इस दौरान छोटेलाल माहिच, रामस्वरूप, कमल सैनी, धर्मेन्द्र, महेश व्यास, अमित छकड़ा, शिवदयाल चौमाल, मेवाराम प्रजापत, नरेन्द्र पारीक, मुकेश, रामावतार शर्मा, केसरदेव सत्संगी, मनोज शर्मा व किशोर भातरा सहित कई स्कूल संचालक मौजूद रहे

निजी स्कूलों की समस्याओं व मांगों को लेकर दिया ज्ञापन
लक्ष्मणगढ़. निजी शिक्षण संस्थाओं की विभिन्न समस्याओं के समाधान सहित अन्य मांगों को लेकर स्कूल शिक्षा परिवार की ओर से सोमवार को उपखण्ड अधिकारी तथा मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन दिया गया। ब्लॉक अध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में विद्यार्थियों के प्रवेश के लिए टीसी की अनिवार्यता करने, आरटीई का बकाया भुगतान करवाने, सरकारी व निजी स्कूलों को एक समान नियम रखने सहित विभिन्न मांग रखी गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned