बोर्ड परीक्षा में टॉप रैंक हासिल करने वाले होनहारों ने खोले सफलता के राज

पत्रिका टॉपर्स टॉक
12 वीं विज्ञान संकाय में 97.60 फीसदी अंक हासिल करने वाले राजेश भाखर की जुबानी
सीकर. कक्षा बारहवीं के विद्यार्थी पूरे मनोयोग से तैयारियों में जुटे है। कोई किसी टॉपिक तो कोई किसी विषय को लेकर बेहद आशंकित है। यह समय तनाव में रहने का नहीं है। पत्रिका टीम ने शुक्रवार को पिछले सत्र विज्ञान संकाय में 97.60 फीसदी अंक हासिल करने वाले होनहार राजेश भाखर से बातचीत की।

By: Ajay

Updated: 07 Mar 2020, 04:49 PM IST

सीकर. कक्षा बारहवीं के विद्यार्थी पूरे मनोयोग से तैयारियों में जुटे है। कोई किसी टॉपिक तो कोई किसी विषय को लेकर बेहद आशंकित है। यह समय तनाव में रहने का नहीं है। पत्रिका टीम ने शुक्रवार को पिछले सत्र विज्ञान संकाय में 97.60 फीसदी अंक हासिल करने वाले होनहार राजेश भाखर से बातचीत की। सबलपुरा स्थित एसबीएस स्कूल के छात्र भाखर का कहना है कि ज्यादातर परीक्षार्थी एग्जाम हॉल में जाते ही घबरा जाते है। जबकि परीक्षा कक्ष में पूरी तरह आत्मविश्वास से जाना चाहिए। प्रश्न पत्र में हाथ में आते ही कई विद्यार्थी बेहद उत्साहित हो जाते है कि पूरा प्रश्न पत्र अच्छे से आते हैं। ऐसे में वह प्रश्न पत्र हल करने की शुरूआत ही क्रम से कर देते है। इससे कॉपी जांचने वाले के मन में छात्र का अच्छा मैसेज नहीं जाता है। इसलिए सबसे पहले पूरी तरह से आने वाले प्रश्नों को हल करनाा चाहिए। इसके बाद आखिरी के दस-पन्द्रह बचें तो नहीं आने वाले वालों को याददास्त के आधार पर हल कर सकते हैं। राइटिंग पर पूरा फोकस करना चाहिए। सब कुछ साफ-सथुरा और स्पष्ट होना चाहिए, ताकि पहली ही नजर में कॉपी जांचने वाले के दिमाग में तय हो जाए कि विद्यार्थी अच्छे अंक हासिल करने वाला है। परीक्षा के बीच में लगनी वाली घंटी के हिसाब से अपनी स्पीड पर भी ध्यान रखें कि कितने समय में कितने प्रश्न हल कर लिए। इन दिनों कलैण्डर बनाकर रिविजन करने से काफी फायदा मिलेगा। परीक्षा के दिनों में नए टॉपिक बिल्कुल भी नहीं पढऩे चाहिए।

कभी नहीं माने हार
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 12 वीं की परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो गई। पहले दिन अंग्रेजी के प्रश्न पत्र को विद्यार्थियों ने औसत से अच्छा बताया है। ज्यादातर अभ्यर्थियों के चेहरे खिले हुए नजर आए। टॉपर्स से बातचीत की श्रृंखला में पत्रिका टीम ने रितिका शर्मा से बातचीत की। पिछले साल रितिका ने कला संकाय में 97.40 फीसदी का स्कोर बनाया था। ब्राइट स्कूल की छात्रा ने पत्रिका से बातचीत के दौरान परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए की जाने वाली तैयारी के संबंध में कुछ विशेष टिप्स बताए। उन्होंने बताया कि परीक्षार्थियों को स्वयं पर विश्वास करना होगा। आपका आत्मविश्वास कभी भी कम नहीं हो, इससे परीक्षा में प्रश्न पत्र हल करने में भी मदद मिलती है। परीक्षा के दिनों में नए टॉपिकों को पढऩे के बजाय पहले से तैयार टॉपिकों को दोहराना ही ठीक रहेगा। प्रश्न पत्र हाथ में आते ही दिमाग में प्रश्नों को हल करने के लिए समय सीमा तय कर लें, इससे निश्चित समय सीमा में पूरा प्रश्न पत्र हल हो सकेगा। सभी टॉपिक को पूरा समय दें। देर रात तक पढ़ाई करने के बजाय दिन व सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करनी चाहिए। परीक्षा का दबाव स्वयं पर हावी न होने दें। भाषाई विषयों में पाठ के बीच से आए प्रश्नों का उत्तर अपनी भाषा में बनाकर सरल रूप में लिखे। सबसे जरूरी बात- हमेशा मुस्कुराते रहे और कभी हार नहीं माने।

Ajay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned