नीर बढ़ा रहा पीर : राजस्थान में पेयजल समस्या को लेकर महिलाओं में आक्रोश, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश में पेयजल के लिए महिलाओं को मजबूरन सडक़ पर उतरना पड़ रहा है।

By: vishwanath saini

Published: 16 May 2018, 01:03 PM IST

श्रीमाधोपुर. पेयजल समस्याओं के समाधान में जलदाय विभाग आमजन को राहत नहीं दे पा रहा है। इस कारण लोगों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है। कस्बे की पेयजल समस्या को लेकर मंगलवार को जनवादी महिला समिति की कार्यकर्ताओं ने उपखंड कार्यालय पर धरना देकर प्रदर्शन किया। तहसील सचिव मंजू चौहान ने बताया कि तहसील अध्यक्ष जुम्मी बानो की अध्यक्षता में उपखंड कार्यालय के बाहर धरना देकर समिति की प्रदेश उपाध्यक्ष तारा धायल के नेतृत्व में ज्ञापन दिया। धायल ने बताया कि वर्तमान सरकार ने सुराज संकल्प यात्रा के दौरान कई वादे किए थे। लेकिन जनता की मूलभुत व पहली आवश्यकता पानी भी पूरे कस्बे के सही ढग़ से नही मिल पा रही है।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश में पेयजल के लिए महिलाओं को मजबूरन सडक़ पर उतरना पड़ रहा है। उन्होने जलदाय विभाग के सहायक अभियंता राजेन्द्र गुर्जर को ज्ञापन देकर जल्द समस्या का समाधान कराने की मांग की है। महिलाओं ने चेतावनी दी कि जल्द समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। आखिर में जलदाय विभाग के अभियंताओं ने पेयजल किल्लत वाले क्षेत्रों में जल्द टैंकर परिवहन शुरू कराने का आश्वासन दिया। इस पर धरना समाप्त हो गया। इस दौरान किसान सभा के तहसील अध्यक्ष कैलाश सामोता, सचिव अर्जुन लाल सहित अनेको महिला कार्यकर्ता मौजूद रही।

 

लाइन टूटने से बढ़ी पेयजल समस्या

मूंडरू. ग्राम पंचायत बागरियावास में सोमवार रात अज्ञात लोगों ने पेयजल सप्लाई के लिये बनी पानी की बड़ी टंकी के नलों व चैम्बर को तोड़ दिया। इससे हजारों लीटर पानी फालतू बह गया और क्षेत्र में पेयजल समस्या बढ़ गई है। पंचायत समिति सदस्य घनश्याम सहित ग्रामीणों का कहना है कि गांव के कई लोगों की गलती से यह लाइन टूटी है। इससे पहले भी कई बार स्टार्टर, केबिल सहित अन्य सामान भी चोरी हो गया। इसकी सरपंच भैरूंलाल मीणा ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तीन दिन पहले भी रात में लोगों ने जनता जल योजना में बनी सरकारी टंकी के चैम्बर व नलों को तोड़ दिया था। ऐसे में स्थानीय लोगों ने अपने खर्चे पर लाइनों को ठीक कराया है। ग्रामीणों ने मामले की जानकारी उपखंड अधिकारी, विकास अधिकारी व सरपंच भैरूंलाल मीणा को दी। लेकिन किसी ने कोई सुनवाई नहीं की। गुस्साए ग्रामीणों ने टंकी के पास खडेे होकर विरोध प्रदर्शन किया। पेयजल सप्लाई चरमराने से लोगों को महंगी दरों पर खुद के पैसों से पानी के टैंकर मंगाने पड़ रहे है।


टंकी के नलों व चैम्बर को तोडऩे की सूचना मिली है। ग्रामीणों से मामले की जानकारी लेकर सरकारी संपति को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया जाएगा।
भैरूंलाल मीणा, सरपंच बागरियावास

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned