जान को जोखिम में डालकर सरकारी खजाने में पहुंचाये आठ करोड़ रुपये

कोरोनाकाल में कई लोगों ने लापरवाही से खतरा मोल लेते हुए खूब सरकारी खजाना भरा है। जागरूकता के तमाम सरकारी प्रयासों के बावजूद कुछ लोग कोरोना से बचाव की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं।

By: Sachin

Published: 26 Aug 2020, 09:18 AM IST

सीकर/फतेहपुर. कोरोनाकाल में कई लोगों ने लापरवाही से खतरा मोल लेते हुए खूब सरकारी खजाना भरा है। जागरूकता के तमाम सरकारी प्रयासों के बावजूद कुछ लोग कोरोना से बचाव की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे में वे अपनी जान तो जोखिम में डाल ही रहे हैं, परिवार और समाज की जिंदगी से भी खिलवाड़ कर रहे हैं। प्रदेश में कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं करने वालों से राजस्थान पुलिस ने साढ़े चार माह में पौने आठ करोड़ रुपए की राशि वसूली है। लोगों को समझाइश के बाद भी नहीं मानना महंगा पड़ा और जुर्माना भरना पड़ा। राज्य सरकार ने हाल ही में जिलेवार आंकड़े जारी किए तो हकीकत सामने आई। 23 मार्च को लॉकडाउन करने के बाद प्रदेश में महामारी एक्ट लागू किया गया था। कोरोना को लेकर सरकार ने गाइड लाइन जारी की थी। इसके तहत सार्वजनिक स्थान पर मास्क या फेस कवर लगाना, 6 फीट की दूरी रखना, सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकना सहित कई हिदायतें दी गई। प्रदेश में 14 अगस्त तक पुलिस ने 5 लाख 13 हजार 420 चालान बनाए हैं। इन चालान के माध्यम से 7 करोड़ 74 लाख 70 हजार 310 रुपए की राशि वसूल की। यह राशि तो सिर्फ पुलिस ने वसूली है। इसके अलावा एसडीएम, तहसीलदार व पटवारी व अन्य विभाग की ओर से की गई कार्रवाई अलग है।

 

यह है प्रदेश के हालात

क्षेत्र -- चालान -- राशि

जयपुर यातायात -- 15079 -- 17,28,000
जयपुर पूर्व -- 15970 -- 23,31,200

जयपुर पश्चिम -- 24354 -- 32,28,600
जयपुर उत्तर -- 8257 -- 12,83,200

जयपुर दक्षिण -- 19471 -- 22,29,900
जयपुर ग्रामीण -- 1184 -- 2,43,600

झुंझुनू -- 6396 -- 13,42,800
सीकर -- 3524 -- 8,60,900

दौसा -- 941 -- 2,16,400
अलवर -- 11508 -- 20,62,700

भिवाड़ी -- 13810 -- 22,80,400
बीकानेर -- 6239 -- 11,57,400

श्रीगंगानगर -- 9394 -- 15,51,810
चूरू -- 5449 -- 9,30,500

हनुमानगढ़ -- 4583 -- 8,41,500
भरतपुर -- 10995 -- 18,67,400

धौलपुर -- 6123 -- 9,30,650
सवाई माधोपुर -- 2036 -- 4,75,200

करौली -- 9574 -- 15,00,700
अजमेर -- 15456 -- 25,26,200

भीलवाड़ा -- 21620 -- 33,77,600
नागौर -- 4222 -- 7,91,800

टोंक -- 16997 -- 22,34,700
जोधपुर यातायात -- 200 -- 36,400

जोधपुर पूर्व -- 17197 -- 21,85,600
जोधपुर पश्चिम -- 23484 -- 30,25,100

जोधपुर ग्रामीण -- 4211 -- 7,30,500
जैसलमेर -- 4139 -- 6,85,000

बाड़मेर -- 18847 -- 30,94,950
जालौर -- 3010 -- 6,62,200

पाली -- 22706 -- 37,91,500
सिरोही -- 10404 --17,25,500

उदयपुर -- 32466 -- 44,15,700
चित्तौडगढ़ -- 25992 -- 35,91,400

प्रतापगढ़ -- 2546 -- 4,81,100
डूंगरपुर -- 4967 -- 8,00800

बांसवाड़ा -- 7473 -- 13,53,200
राजसमंद -- 21927 -- 31,27,800

कोटा शहर -- 15358 -- 22,48,500
कोटा ग्रामीण -- 5079 -- 8,44,300

बूंदी -- 8905 -- 13,09600
झालावाड़ -- 34396 -- 44,53,900

बारां -- 15807 -- 27,53,800
जीआरपी अजमेर -- ***** -- 1,12,500

जीआरपी जोधपुर -- 340 -- 47,800
कुल -- 5,13,420 -- 7,74,70,310


झालावाड़ पुलिस ने सबसे ज्यादा तो दौसा ने काटे सबसे कम चालान

प्रदेश के बड़े शहरों को छोड़ दें तो झालावाड़ जिले में पुलिस ने सबसे ज्यादा चालान काट सबसे ज्यादा जुर्माना वसूला। वहीं दौसा जिले में सबसे कम चालान काटे गए। झालावाड़ पुलिस ने 34396 चालान काटकर 44 लाख 53 हजार 900 रुपए का जुर्माना वसूला। वहीं दौसा पुलिस ने महज 941 चालान बनाकर दो लाख 41 हजार 400 रुपए की राशि वसूली।

मास्क नहीं लगाने पर सबसे ज्यादा चालान
इनमें से सर्वाधिक मामले मास्क नहीं लगाने के हैं। दुकानदारों को भी बिना मास्क वाले ग्राहकों को सामान देना महंगा पड़ा। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना का उल्लंघन हो या फिर सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान व गुटखे का प्रयोग हरेक में पुलिस ने सख्ती दिखाई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned