बड़ा गिरोह: नीट परीक्षा में सीकर में सात मिनट में हल हुआ प्रश्न पत्र, जयपुर में करवाई नकल

सीकर. नीट परीक्षा में अब तक दूसरे राज्यों में सक्रिय हाईटेक नकल गिरोह ने इस बार राजस्थान में अपने पैर जमा लिए।

By: Sachin

Published: 14 Sep 2021, 02:56 PM IST

सीकर. नीट परीक्षा में अब तक दूसरे राज्यों में सक्रिय हाईटेक नकल गिरोह ने इस बार राजस्थान में अपने पैर जमा लिए। इसका खुलासा पिछले चार दिनों से सीकर, जयपुर, अजमेर व कोटा सहित अन्य स्थानों पर हुई पुलिस की कार्रवाई में साफ हो गया है। नीट परीक्षा में नकल के मामले सोमवार को जयपुर में सीकर के पांच दलाल पकड़े गए। खास बात यह है कि नकल गिरोह के सभी सदस्य दसवीं, बारहवीं और बीए पास है। दूसरे राज्यों के नकल गिरोह के सम्पर्क में आकर इस बार इन्होंने भी युवाओं को डॉक्टर बनाने का झूठा सपना दिखाकर अपने जाल में फंसा लिया। पुलिस सूत्रों की मानें तो शेखावाटी के 150 से अधिक अभ्यर्थी इन दलालों के सम्पर्क में थे। इससे पहले भी सीकर पुलिस हाईटेक नकल गिरोह के 11 सदस्यों को गिरफ्तार कर चुकी है। इस बार दलालों के फेर में उलझने के बाद एनटीए की नीट परीक्षा भी देशभर में मजाक बन गई। इससे शेखावाटी सहित देशभर के अभ्यर्थियों में आक्रोश भी है।

 

बड़ी चूक: सात मिनट में जयपुर से सीकर आया पेपर, यही हुआ सॉल्व
नीट परीक्षा शुरू होने के सात मिनट बाद ही वाट्स एप पर नीट का पेपर जयपुर से सीकर आ गया। गिरोह से जुड़े यहां के सुनील रणवा और दिनेश बेनीवाल ने अपने सहयोगियों की सहायता से डेढ़ घंटे में 174 प्रश्नों के उत्तर विद्यार्थियों तक पहुंचा दिए। मिली भगत की स्थिति यह रहीं कि सेंटर पर प्रश्नों के यह उत्तर भांकरोटा में विद्यार्थियों को बांट दिए गए। हालांकि जयपुर पुलिस ने सोमवार को सुनील रणवां और दिनेश बेनीवाल को हिरासत में लेकर मामले का खुलासा कर दिया है, लेकिन सीकर की पुलिस रात तक बेखबर थी।

बड़ा सवाल: सॉल्व पेपर कितनों तक पहुंचा
पुलिस ने यह खुलासा तो कर दिया है कि प्रश्न पत्र सीकर से हल होकर वापस जयपुर भेजा गया। लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि गिरोह के सदस्यों ने यह प्रश्न पत्र कितने अभ्यर्थियों को भेजा। हालांकि पुलिस आरोपियों के वाट्सएप के आधार पर इसकी जांच में जुटी है। इसके अलावा सॉल्व करने वाले एक्सपर्ट को भी जल्द गिरफ्तार करने की तैयारी में है। सॉल्वर में एक कोचिंग के शिक्षक की बड़ी भूमिका भी सामने आ रही है।

कोचिंग संचालक से लेकर बीएससी विद्यार्थी भी गिरोह

पुलिस की जयपुर में हुई कार्रवाई में श्रीमाधोपुर की एक कोचिंग का संचालक भी गिरफ्तार हुआ है। गिरफ्तार आरोपियों में मुकेश कुमार बीए पास है। फिलहाल वह आरआईटी में प्रशासक है। मूलत: यह श्रीमाधोपुर का निवासी है। पुलिस ने कैरपुरा निवासी रामसिंह, सुनील यादव, कोचिंग संचालक नवरतन यादव, अनिल कुमार यादव, संदीप कुमार व पंकज यादव को गिरफ्तार किया है। यह आरोपी भी दसवीं, बारहवीं व आईआईटी पास है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned