राजस्थान के 14 जिलों में बरसात की संभावना, यहां किसानों की बढ़ी चिंता

राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र एक पांच दिन से तापमान में बढ़ोतरी का दौर जारी है। सोमवार को फतेहपुर में दिन का पारा 38 डिग्री के पार रहा। लेकिन, इस बीच मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के लिए फिर बरसात की भविष्यवाणी की।

By: Sachin

Published: 15 Sep 2020, 09:53 AM IST

सीकर. राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र एक पांच दिन से तापमान में बढ़ोतरी का दौर जारी है। सोमवार को फतेहपुर में दिन का पारा 38 डिग्री के पार रहा। लेकिन, इस बीच मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के लिए फिर बरसात की भविष्यवाणी की। विभाग के अनुसार प्रदेश के 4 जिलों के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है। जिनमें भीलवाड़ा, उदयपुर, चितौडगढ़़, राजसमंद, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, सिरोही, बारां, झालावाड़, करौली, सवाई माधोपुर, भरतपुर और धौलपुर जिले शामिल है। हालांकि विभाग ने इंतजार कर रहे शेखावाटी में बरसात के कोई संकेत नहीं दिए है। हालांकि सीकर में बीती रात से हवाओं की दिशा बदलने से उमस से जूझ रहे लोगों को दिन में आंशिक राहत मिली। पिछले कई दिन से थमी हवाएं सोमवार दोपहर बाद 1.9 किलोमीटर की रफ्तार से चली तो बारिश होने के संकेत मिले। लेकिन, मंगलवार सुबह से मौसम फिर साफ होने व तेज धूप खिलने से बरसात की उम्मीद आज भी धूमिल होती नजर आ रही है। दिन चढऩे के साथ यहां गर्मी फिर परवान पकडऩे लगी है। सूरज की तेज किरणों ने लोगों को झुलसाना शुरू कर दिया है। इससेे पहले फतेहपुर में सोमवार को अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री और न्यूनतम तापमान 21.5 डिग्री दर्ज किया गया। जो अंचल में लगातार बढ़ रही गर्मी को साफ जाहिर कर रहा है।

इधर बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग के अनुसार अगले चार दिन के दौरान प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र के कई जिलों में बारिश होगी। पश्चिमी राजस्थान में बारिश के आसार नहीं है। इस दौरान हवाओं की रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर तक रहेगी। बुलेटिन के अनुसार भीलवाड़ा, उदयपुर, चितौडगढ़़, राजसमंद, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, सिरोही, बारां, झालावाड़, करौली, सवाई माधोपुर, भरतपुर, धौलपुर जिले में एक दो स्थानों पर मध्यम दर्जे की बारिश होगी।

किसान चिंतित, जल्द पकेगी अगेती फसल
शेखावाटी में मानसून की बेरूखी ने आमजन को बेहाल कर दिया है। सावन माह में औसत से ज्यादा बारिश के बाद खरीफ की फसलों की बम्पर बढ़वार हुई लेकिन इस समय फसलों में दाने पड़ रहे हैं और फसलों को सिंचाई की जरूरत है। सितम्बर माह में मौसम में आए बदलाव से किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। फसलों की बढ़वार तो हो गई लेकिन गर्मी के कारण और बारिश नहीं होने से अगेती फसल समय से पक जाएगी। जिससे अगेती फसलों में दाने की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है।

weather report

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned