VIDEO. ट्रेक्टर चलाकर ग्वाड़ में पहुंचे राकेश टिकैत, कहा- अब संसद बनेगी मंडी

(Farmer Leader Rakesh Tikait said, Now Parliament will be APMC) भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता व किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अब किसानों की नई मंडी संसद होगी। जहां किसान अपनी फसल लेकर पहुंचेंगे। टिकैत मंगलवार को फतेहपुर के ताजसर में किसान सभा को संबोधित कर रहे थे।

By: Sachin

Published: 02 Mar 2021, 10:06 PM IST

सीकर. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता व किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अब किसानों की नई मंडी संसद होगी। जहां किसान अपनी फसल लेकर पहुंचेंगे। टिकैत मंगलवार को फतेहपुर के ताजसर में किसान सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जब मोदी सरकार एमएसपी पर फसल खरीद की बात कह रही है तो मंडियों में एमएसपी पर खरीद नहीं होने पर किसानों को फसल लेकर संसद पहुंच जाना चाहिए। इस दौरान टिकैत ने किसानों को बॉर्डर पर आंदोलन तेज करने की बात भी कही। इसके लिए किसानों को बॉर्डर पर पहुंचने का आह्वान भी किया। टिकैट ने सरकार पर किसानों की जमीन हड़पने का आरोप भी लगाया। कहा कि कहा कि सरकार आगामी वर्षों में किसानों के खिलाफ 50 नए कानून लेकर आने की तैयारी कर रही है। जिसके बाद किसानों के पास जमीन भी नहीं बचेगी। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने कहा कि आज सरकार राम के नाम पर गुमराह कर रही है। जबकि राम केवल भाजपा की बपौती नहीं है। हमारे पूर्वज तो उठते- बैठते राम का नाम लिया करते थे। सभा को जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजाराम मील, डम्पी पहलवान, टैकराम कंडेला सहित कई नेताओं ने संबोधित किया। इस दौरान बीएल मील, आबिद हुसैन, हरलाल झूरिया, हेमेन्द्र महला, रामरतन किसान, सुरेन्द्र सोहूं, एडवोकेट राजपाल सहित कई नेताओं ने संबोधित किया।


2021 के अंत तक होगी वार्ता: टिकैत
सभा के बाद पत्रकारों से वार्ता करते हुए राकेश टिकैत ने कई सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सरकार ने बातचीत बंद कर दी तो किसानों को भी बातचीत की जरूरत नहीं है। किसानों भी बातचीत का न्यौता नहीं भेंजेंगे। उनसे पूछा कि बातचीत कब होगी तो उन्हेांने कहा कि इस वर्ष के अंत तक वार्ताओं के दौर फिर शुरू हो जाएंगे, अभी नहीं होंगे। आंदोलन समाप्ति के मामले में टिकैत ने साफ कहा कि तीनों कानून वापस लेने व एमएसपी की गांरटी का कानून देने के बाद ही आंदोलन समाप्त होगा। उन्हेांने कहा कि किसानों को कोई जल्दी नहीं है, चाहे जितना समय लगे। विपक्षी पार्टियों के साथ होने पर टिकैत ने कहा कि हम ना किसी को बुला रहे है ना किसी को भेज रहे हं।ै जिनकों साथ आना है वो आए। हम उनका स्वागत करते हैं। हमारे साथ भाजपा के भी कई नेता है। जिन राज्यों में चुनाव व उप चुनाव है उन पर किसानों का फोकस करने के सवाल पर टिकैत ने कहा कि हम पर कोर्ट ने कोई पांबदी नहीं लगा रखी है। हमारा जहां मन करेगा वहां सभा करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा निशाना केन्द्र सरकार पर है। जब कानून केन्द्र ने बनाएं है तो फिर केन्द्र ही वापस ले। राज्य सरकारों से हम क्यों लड़ेंगे?

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned