पुलिस चौकी में बलात्कार मामले की आईजी स्तर पर होगी जांच, मांगी तथ्यात्मक रिपोर्ट

सीकर. प्रेमी के साथ भागी युवती को वापस लाने के दौरान रास्ते में छेड़छाड़ और सिंगरावट चौकी में बलात्कार के मामले की आईजी भी अपने स्तर पर समानांतर जांच करवाएंगे।

By: Sachin

Updated: 07 Sep 2021, 12:57 PM IST

सीकर. प्रेमी के साथ भागी युवती को वापस लाने के दौरान रास्ते में छेड़छाड़ और सिंगरावट चौकी में बलात्कार के मामले की आईजी भी अपने स्तर पर समानांतर जांच करवाएंगे। मामले में पुलिस महानिरीक्षक जयपुर रेंज डॉ. हवासिंह घुमरिया ने मामले की तथ्यात्मक जानकारी मांगी है। दोषी पाए जाने पर आरोपी हेडकांस्टेबल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात भी कही है। इधर, मानवाधिकार आयोग भी घटना का संज्ञान ले चुका है। मामले में पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्र्रदीप से घटनाक्रम की जानकारी के साथ 15 सितंबर तक रिपोर्ट पेेश करने को कहा गया है।

इधर, मुकदमे के बाद मुकरी पीडि़ता
इधर, सीकर एसपी को परिवाद देकर हेडकांस्टेबल पर बलात्कार का आरोप लगाने व हेडकांस्टेबल के खिलाफ धोद थाने में बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद रविवार देर रात थाने में हुए बयानों में युवती मुकर गई। युवती ने कहा कि हैडकांस्टेबल सुभाष ने उसके पति को गिरफ्तार करने की धमकी दी थी। अपने पति को बचाने के लिए हैडकांस्टेबल पर छेड़छाड़ और चौकी में बलात्कार का आरोप लगाते हुए एसपी के समक्ष परिवाद पेश किया था। मामले की जांच अब लोसल थानाधिकारी को सौंपी गई है। पुलिस ने सोमवार सुबह न्यायालय में धारा 164 के तहत भी युवती के बयान दर्ज करवा दिए हैं।

आरोपों की जांच के लिए पुलिस जुटा रही रास्ते के फुटेज
युवती ने आरोप लगाया था कि श्रीगंगानगर जिले के संबंधित थाने से निकलने के 30 किलोमीटर बाद आरोपी हैडकांस्टेबल सुभाष ने उसके पति को गाड़ी से उतार कर आगे की सीट पर बैठा दिया था। वह स्वयं उसके पास आकर बैठ गया और छेड़छाड़ शुरू कर दी। जबकि आरोपी कांस्टेबल का कहना है कि वह गाड़ी में आगे ही बैठा था। पीछेगंगानगर जिले के संबंधित थाने की एक महिला कांस्टेबल बैठी थी। वह चौकी तक साथ आई थी। इसकी जांच के लिए एसपी ने संबंधित थाने से लेकर चौकी तक लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज एकत्र करने के निर्देश दिए हैं। डीवाईएसपी राजेश आर्य का कहना है कि युवती व उसके पति को जब गंगानगर से यहां लाया जा रहा था तब वहां से सीकर जिले की रहने वाली एक महिला कांस्टेबल साथ आई थी। संबंधित थाने में उसकी रवानगी भी डाली हुई है। महिला कांस्टेबल के भी पुलिस ने बयान दर्ज कर लिए हैं। उसने यह बात स्वीकार की है।


आइजी बोले-समानांतर होगी जांच
युवती आरोपों से मुकर गई है। मामले का गहराई से परीक्षण करवाया जाएगा। किसी भी तरह की गलती सामने आई तो हैडकांस्टेबल के खिलाफ कार्रवाई होगी। उनकी तरफ से समानांतर जांच करवाई जाएगी।

डॉ. हवा सिंह घुमरिया
पुलिस महानिरीक्षक, जयपुर रेंज


एसपी ने कहा-कर रहे गहन पड़ताल

पुलिस को दिए बयानों में युवती ने अपने पति को बचाने के लिए हैडकांस्टेबल पर आरोप लगाने की बात कही है। महिला कांस्टेबल के सामने छेड़छाड़ और चौकी में बलात्कार जैसी वारदात की संभावना कम है। हैडकांस्टेबल गाड़ी में किस सीट पर बैठा था, यह पता करने के लिए रास्ते भर के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज एकत्र किए जा रहे हैं। थाने में हुई पंचायती की भी जांच करवाई जा रही है।
कुंवर राष्ट्रदीप, पुलिस अधीक्षक, सीकर

मानवाधिकार आयोग ने लिया प्रसंज्ञान
इस मामले में राज्य मानव अधिकार आयोग ने प्रसंज्ञान लिया है। आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश गोपाल कृष्ण व्यास ने सीकर पुलिस अधीक्षक को आदेश जारी कर मामले की रिपोर्ट तलब की है। आदेश में कहा गया है कि यह मामला पुलिस की छवि पर प्रश्नवाचक चिह्न लगाता है। आयोग ने सीकर पुलिस अधीक्षक से दर्ज मामले की स्थिति, सिंगरावट चौकी में तैनात पुलिसकर्मियों की संख्या, घटना के दौरान चौकी में कितने पुलिसकर्मी उपस्थित थे, किन लोगों ने राजीनामा करने के लिए पंचायत की, राजीनामा करने वालों के नाम की सूची भेजने संबंधी बिंदुवार रिपोर्ट तलब की है। यह भी पूछा है कि पुलिस अधीक्षक को इस घटना की सूचना कब और किसके माध्यम से मिली। आयोग ने पत्रावली 15 सितम्बर को पेश करने के आदेश दिए हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned