गलियों की खाक छानती रही पुलिस, चंद मिनट में रफू चक्कर हुए हथियारबंद लुटेरे

Try to Looted in Sikar : शहर की व्यस्त सडक़ जयपुर रोड पर शनिवार रात व्यवसायी की कनपटी पर पिस्टल लगाकर रुपए से भरा थैला छीनने के प्रयास के मामले में चंद मिनट में पुलिस के पहुंचने के बाद भी लुटरे भागने में सफल हो गए।

By: Naveen

Published: 06 Jan 2020, 12:25 PM IST

सीकर.

Try to Looted in Sikar : शहर की व्यस्त सडक़ जयपुर रोड पर शनिवार रात व्यवसायी की कनपटी पर पिस्टल लगाकर रुपए से भरा थैला छीनने के प्रयास के मामले में चंद मिनट में पुलिस के पहुंचने के बाद भी लुटरे भागने में सफल हो गए। इसका बड़ा कारण पुलिस के संयुक्त प्रयासों की कमी और लापरवाही रही है। हाथ में पिस्टल होने की जानकारी मिलने के बाद भी नाकाबंदी साधारण मारपीट और छीना-झपटी की सूचना देकर करवाई गई। ऐसे में मामला रात को उच्चाधिकारियों तक नहीं पहुंचा। थाना और चौकी पुलिस गलियों में लुटेरों की तलाश कर थक गई और लुटेरे भागने में सफल हो गए। हालांकि इस लापरवाही को रविवार को उच्चाधिकारियों ने गंभीरता से लेकर जिम्मेदार पुलिस अधिकारी से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है।


05 मिनट में पहुंची चौकी पुलिस
घटना रात करीब साढ़े नौ बजे हुई। लोगों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। डिपो चौकी पुलिस घटनास्थल पास ही होने के कारण महज पांच मिनट में ही मौके पर पहुंच गई। इसी दौरान पुलिस कंट्रोल रूम को मारपीट और छीना झपटी होने की सूचना देकर नाकाबंदी करवाई गई।


इसके बाद उद्योग नगर थाने से एसआई बृजेश सिंह तंवर के नेतृत्व में पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंचा। इस दौरान सीसीटीवी फुटेज और लोगों से बातचीत में स्पष्ट हो गया था कि बाइक सवार दो युवकों ने लूट का प्रयास किया है। फुटेज में वारदात की गंभीरता के साथ लुटेरे के हाथ में हथियार भी साफ दिखाई देर रहा है। लेकिन इसके बाद कंट्रोल रूम को लूट के प्रयास की सूचना नहीं दी गई। ऐसे में दूसरे थानों की पुलिस घटना की गंभीरता को लेकर सक्रिय नहीं हुई। जिसका परिणाम यह हुआ कि दूसरे दिन भी लुटेरों का सुराग नहीं लग पाया है।


कमजोर नाकों से निकलते अपराधी
सीकर में पुलिस की नाकाबंदी की स्थिति शुरू से ही कमजोर है। शहर के किसी भी हिस्से में अपराध कर अपराधी गलियों से होते हुए बाइपास पर पहुंच सकते हैं। बाइपास पर कहीं भी पुलिस जांच की स्थाई व्यवस्था नहीं है। थाना पुलिस नाकाबंदी करने के लिए वहां पहुंचती है। इससे पहले अपराधी शहर की सीमा छोड़ जाते हैं। जिले की सीमाओं पर नाकांबंदी की भी कमोबेश ऐसी ही स्थिति है। हरियाणा राज्य से सटा होने के बावजूद पुलिस पिछले कुछ वर्षों में नाकाबंदीक दौरान एक भी बड़ा अपराधी नहीं पकड़ पाई।


लूट के प्रयास की घटना के बाद पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई थी। कंट्रोल रूम को नाकाबंदी के लिए सूचना भी दी गई थी, लेकिन घटना के अनुसार गंभीरता नहीं बरतने पर संबंधित से स्पष्टीकरण मांगा गया है। फुटेज के आधार पर लुटेरों की तलाश जारी है। -डॉ. देवेन्द्र शर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक, सीकर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned