scriptSchools of Rajasthan at the forefront of quality education | क्वालिटी एज्युकेशन में राजस्थान के स्कूल सबसे आगे | Patrika News

क्वालिटी एज्युकेशन में राजस्थान के स्कूल सबसे आगे

चंडीगढ़ टॉप पर, संसाधनों के मामले में पंजाब सबसे आगे
मंत्रालय ने माना 8 जिलों में सबसे ज्यादा 20 फीसदी तक सुधार
प्रदेश में रेकार्डतोड़ नामांकन और बढ़ते संसाधनों की वजह से रैंकिंग में उछाल

सीकर

Published: July 02, 2022 03:27:25 pm


विनोद सिंह चौहान. अजय शर्मा सीकर.
शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स में राजस्थान ने इतिहास रच दिया है। राजस्थान ने देश की राजधानी दिल्ली सहित कई राज्यों को पीछे छोड़ते हुए टॉप राज्यों में जगह बनाई हैं। खास बात यह है कि देश में सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले तीनों जिलों राजस्थान के सीकर, झुंझुनूं व जयपुर है। अच्छी बात यह है कि देश के 8 जिलों ने पिछली रैंकिंग के मुकाबले 20 फीसदी तक सुधार किया है। पीजीआई-डी रिपोर्ट के अनुसार, लर्निंग आउटकम्स एंड क्वालिटी में राजस्थान 180 में से 168 अंकों के साथ देशभर में आगे रहा है। वहीं चंडीगढ़ और कर्नाटक 160 अकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं। जबकि झारखंड 156 अंकों के साथ शीर्ष चार में शामिल है। वहीं स्कूली शिक्षा तक पहुंच के मामले में पंजाब और केरल 80 में से 79 अंकों के साथ आगे रहे हैं। जबकि 77 अंकों के साथ ही चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश शीर्ष चार में हैं। संसाधनों के मामले में पंजाब को 150 में से 150 अंक मिले हैं और दिल्ली 149 अंकों के साथ ही दूसरे पायदान पर है। इसके अलावा इक्विटी और गर्वनेंस प्रोसेस की श्रेणियों में भी पंजाब अन्य सभी राज्यों से आगे है।
देशभर में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले तीनों जिले राजस्थान के
देशभर में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले तीनों जिले राजस्थान के
राजस्थान की इसलिए बढ़ रही देशभर में धाक

1. कोरोनाकाल में ऑनलाइन क्लास
कोरोनाकाल में ऑफलाइन क्लास बंद होने पर राजस्थान ने सबसे पहले राजस्थान ने ऑनलाइन क्लास की पहल शुरू की। वहीं रेडियो के साथ टीवी पर भी राजस्थान ने सबसे पहले कक्षाएं शुरू की। वहीं बच्चों के शैक्षिक स्तर को बढ़ाने के लिए वर्क जैसी पहल भी शुरू की।
2. शिक्षकों की लगातार भर्ती और एक करोड़ नामांकन
कोरोनाकाल में प्रदेश के सरकारी स्कूलों में नामांकन के भी सभी रेकार्ड टूट गए। प्रदेश में नामांकन लगभग एक करोड़ तक पहुंच गया है। इसके अलावा लगातार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती होने का भी फायदा मिला है। जबकि कई राज्यों में संविदा शिक्षकों की भर्ती को बढ़ावा दिया गया।
3. स्कूलों में बढ़ते संसाधन
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में खेल मैदान, किचन शैड, बिजली कनेक्शन व पेयजल सहित अन्य संसाधनों में काफी बढ़ोतरी हुई है। इसकी वजह से प्रदेश की कॉमन रैंकिंग में भी उछाल आया है। खास बात है कि दो साल पहले भी संसाधनों के मामले में सबसे ज्यादा अंक हासिल किए थे।
ग्रेड एल 2 के साथ ये हैं टॉप 5 अचीवर्स
पीजीआई-डी 2019-20 की रिपोर्ट के अनुसार ग्रेड एल-2 के साथ टॉप पांच अचीवर्स में 929 अंकों के साथ पंजाब सबसे आगे रहा। जबकि 912 अंकों के साथ केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ ने बाजी मारी। वहीं 906 अंकों के साथ तमिलनाडु और 901 अंकों के साथ केंद्र शासित प्रदेश अंडमान निकोबार और केरल ने भी जगह बनाई है। जबकि उत्तर प्रदेश को 804 अंकों से संतोष करना पड़ा है।
पिछड़े हुए जिले
राज्य जिला अंक
अरुणाचल प्रदेश शी योमी 109
अरुणाचल प्रदेश नामसार्ई 144
अरुणाचल प्रदेश लॉन्गडिंग 169
उत्तराखंड चमोली 183
मेघालय साऊथ गारो हिल्स 187
बिहार मधेपुर 193
जम्मू-कश्मीर पंच 194
महाराष्ट्र सतारा 198
तेलंगाना नारायणपेट 292
उत्तरप्रदेश ललितपुर 262
मध्यप्रदेश अलीराजपुर 278

ऐसे समझें पूरा गणित
सर्वे में शामिल स्कूल 15 लाख
शिक्षक 97 लाख
विद्यार्थी व नव साक्षर 26 करोड़
उत्कर्ष श्रेणी में जिले 3
अति उत्तम श्रेणी में जिले 86
उत्तम श्रेणी में जिले 276
सबसे ज्यादा 8 जिलों में कितने फीसदी सुधार 20 फीसदी
423 जिलों ने सुधार किया 10 फीसदी
डिजिटल लर्निंग में एमपी फेल
सर्वे में डिजिटल लर्निंग के लिए 50 अंक तय थे। डिजिटल लर्निंग में चंडीगढ़, राजस्थान, लक्ष्यदीप टॉप पर रहे। जबकि मध्यप्रदेश, जम्मू कश्मीर फेल साबित हुए। इन्हें 50 में से महज 1 से चार अंक मिले।
पत्रिका नॉलेज: 600 अंकों के आधार पर ग्रेडिंग
पीजीआई-डी में 6 श्रेणियों को मिलाकर 600 अंक तय किए हैं। इनमें 290 अंक शिक्षण व्यवस्था, 90 अंक प्रभावी क्लास रूम, 51 अंक संसाधन व सुविधाएं, 35 अंक बाल संरक्षण, 50 अंक डिजिटल लर्निंग व 84 अंक अटेंडेंस मॉनिटरिंग आदि में तय किए गए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानि
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.