शेखावाटी में कड़ाके की सर्दी का दौर, फतेहपुर सबसे सर्द

शेखावाटी में शनिवार को अलसुबह उत्तरी नम हवाओं से शेखावाटी सर्द हो गया। एक दिन में न्यूनतम तापमान में करीब दो डिग्री की गिरावट आने से लोग ठिठुर गए।

By: Bhagwan

Updated: 08 Dec 2019, 06:12 PM IST

सीकर. शेखावाटी में शनिवार को अलसुबह उत्तरी नम हवाओं से शेखावाटी सर्द हो गया। एक दिन में न्यूनतम तापमान में करीब दो डिग्री की गिरावट आने से लोग ठिठुर गए। फतेहपुर कृषि अनुसंधान केन्द्र का न्यूनतम तापमान सबसे कम १.५ डिग्री रहा है। लोग गर्म लबादों में लिपटे नजर आए। बीती रात से ओस के कारण खेतों में फसलों पर नूर छा गया। खुले स्थानों पर मध्यरात्रि से भोर तक हल्की ओस गिरी सीकर में सूर्योदय से खिली धूप के बाद भी लोगों ने हवा में चुभन महसूस की। सुबह कई स्थानों पर आंशिक कोहरा छाया। नमी की मात्रा ५५ फीसदी से अधिक रहने के कारण दिन में भी लोग ठिठुरते रहे। शाम होते सर्दी ने शिकंजा कस लिया। फतेहपुर कृषि अनुसंधान केन्द्र पर न्यूनतम पारा १.५ डिग्री व अधिकतम तापमान २३ डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। चूरू में न्यूनतम तापमान ५.७ डिग्री और अधिकतम तापमान २३.२ डिग्री दर्ज किया गया।

जमने लगी ओस की बूंदे

कड़ाके की सर्दी के चलते खुले में ओस की बूंदे भी जमने लग गई। हवाओं की दिशा बदलने से शनिवार को प्रदेश में सबसे कम तापमान सीकर जिले के फतेहपुर में कृषि अनुसंधान केन्द्र पर १.५ डिग्री दर्ज किया। चूरू जिले में न्यूनतम तापमान ५.७ डिग्री रहा। मौसम विज्ञान ओमप्रकाश कालश ने बताया कि इस सप्ताह में यह दूसरा मौका है जब न्यूनतम तापमान 1.5 डिग्री दर्ज किया गया है। पहले ड़ेढ डिग्री तापमान होने के अगले ही दिन तापमान में बढ़ोतरी शुरू हो गई। हवाओं का रूख बदल जाने के कारण बादल छाएं व सर्दी का असर कम हुआ था। लेकिन अब फिर से मौसम साफ हो गया व उत्तरी हवाएं शुरू हो गई। मौसम विभाग की माने तो आगामी दो से तीन दिनों में सर्दी बढ़ सकती है।

प्रदेश में शनिवार को न्यूनतम तापमान

फतेहपुर- १.५
चूरू- ५.७ डि.से.
गंगानगर- ८.५
जैसलमेर- १०.१
बीकानेर- १०.१
जयपुर- १०.५
अजमेर- ११.५
बाडमेर- ११.५
डबोक हवाई अड्डा-१२
जोधपुर-१२.२
कोटा-१४.४

घर में निकले कोबरा सांप को पकडक़र जंगल में छोड़ा

श्रीमाधोपुर. इलाके के चौधरियों की ढाणी में शनिवार दोपहर एक घर में कोबरा सांप मिकल आया। इस जहरीले सांप के निकलने से एक बार तो गांव में दहशत फैल गई। बाद में उसे जंगल में छोड़ा गया। कस्बे के विष्णु मिश्रा ने बताया कि रिछपाल सैनी के कुएं पर बने घर में एक जहरीला कोबरा सांप घुस जाने से हडक़ंप मच गया। मामले की जानकारी स्नेक कैचर व इलेक्ट्रोनिक व्यापारी राजेंद्र प्रसाद हरभजनका को दी गई। हरभजनका ने करीब 30 मिनट का रेस्क्यू चलाकर जहरीले कोबरा सांप को पकड़ लिया और जंगल में जाकर छोड़ दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned