सीकर के शख्स ने इसलिए की थी दिल्ली में विंग कमांडर की पत्नी की हत्या, वारदात से पहले दोनों ने किया था ये काम

सीकर के शख्स ने इसलिए की थी दिल्ली में विंग कमांडर की पत्नी की हत्या, वारदात से पहले दोनों ने किया था ये काम

Vinod Singh Chouhan | Publish: May, 02 2019 11:28:11 AM (IST) | Updated: May, 02 2019 11:30:22 AM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

दिल्ली में पूर्व विंग कमांडर की पत्नी की हत्या रामगढ़ निवासी दिनेश दीक्षित ने सट्टे में मिली हार का कर्जा चुकाने के लिए की थी।

सीकर.

Delhi में पूर्व Wing Commander की पत्नी Wife की हत्या Murder रामगढ़ निवासी दिनेश दीक्षित Dinesh Dixit ने सट्टे में मिली हार का कर्जा चुकाने के लिए की थी। हालांकि इसके बाद हत्यारा मृतका के घर से 50 लाख की नगदी और जेवरात लेकर फरार भी हो गया था। लेकिन, 50 विशेष पुलिसकर्मियों की टीम ने करीब तीन हजार वाहनों को खंगाल कर जयपुर में छिपे आरोपी को दबोच लिया। आरोपी के पिता सरकारी डॉक्टर थे। जिन्होंने सेवानिवृत्ति के बाद अपना क्लिनिक खोल रखा है। गौरतलब है कि दिल्ली में रहने वाले पूर्व विंग कमांडर विनोद कुमार जैन Vinod Kumar Jain की पत्नी मीनू जैन Meenu Jain से एक डेटिंग एप Dating App के जरिए दिनेश दीक्षित ने दोस्ती कर ली थी। चार महिने की दोस्ती के दौरान दीक्षित ने मीनू जैन से कई बार आर्थिक मदद ली। 25 अप्रेल को घटना के दिन वह द्वारका इलाके में एक अपार्टमेंट में मीनू जैन के साथ था। वहां उसने मीनू को जमकर शराब पिलाई और खुद ने भी। इसके बाद नशा अधिक होने पर उसने मीनू की तकिए से मुंह दबाकर हत्या कर दी और 50 लाख रुपए की नकदी और जेवरात लेकर फरार हो गया।


पहले भी जा चुका जेल
जानकारी में आया है कि 55 वर्षीय दिनेश एक शातिर अपराधी है और पहले भी धोखाधड़ी करने के आरोप में जेल जा चुका है। इसके दो लडक़े हैं, जिनमें एक शादी शुदा है। दिनेश जयपुर रहता था और सट्टेबाजी करता है। जबकि दिखावे के लिए प्रोपट्री का काम करता था। लेकिन, आइपीएल में सट्टे में बड़ी रकम हार जाने के बाद वह परेशानी में था और एक ऐसे मौके की तलाश में था। ताकि लंबा हाथ मारकर सट्टे का कर्जा चुकाया जा सके। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि आरोपी दीक्षित डेटिंग एप, सोशल साइट और वाट्सअप का इस्तेमाल करता था। वह सोशल साइट पर बातों ही बातों में महिलाओं का भरोसा जीत लेता था। इसी तरह दिनेश ने कमांडर की पत्नी मीनू को फंसाया और इसके घर पहुंचा। यहां आने पर पता चला कि मीनू के पास बहुत पैसा है तो इसने योजना बनाई और बिना नंबरी कार लेकर इसके घर पहुंचा और मौका पाकर इसने वारदात को अंजाम दे दिया। इसके बाद यह जयपुर में मुरलीपुरा स्थित अपार्टमेंन्ट में आकर छिप गया। आरोपी अपने गांव लंबे समय बाद ही जाता था और अपनी पत्नी तथा बच्चों को उसने गांव ही छोड़ रखा था।


बैठा रहा शव के पास
मीनू की हत्या के बाद दिनेश रातभर उसके शव के पास बैठा रहा और सुबह मृतका के फ्लैट के बाहर से ताला लगाकर फरार हो गया। पुलिस के अनुसार मृतका मीनू जैन दिल्ली के द्वारका इलाके में एक अपार्टमेंट में रहती थी। इसके पति पूर्व विंग कमांडर विनोद जैन वर्तमान में एक एयरलाइंस में पायलट हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned