नीट की तैयारी कर रहे छात्र ने दिल्ली के ढाबों में तीन महीने तक धोए बर्तन, जानिए क्यों

नीट ( NEET Student ) की तैयारी करने वाला छात्र इतना मजबूर हो गया कि उसे दिल्ली में बर्तन साफ करने पड़े। तीन महीने तक उसने दिल्ली में रहकर ढाबों में बर्तन धो। इसके बाद वह परेशान हो गया तो घर लौट आया। दरअसल, राजस्थान के सीकर जिले में पढ़ाई से परेशान एक छात्र परिजनों को बिना बताए दिल्ली भाग गया।

By: Naveen

Published: 22 Feb 2020, 04:03 PM IST

सीकर।
नीट ( NEET Student ) की तैयारी करने वाला छात्र इतना मजबूर हो गया कि उसे दिल्ली में बर्तन साफ करने पड़े। तीन महीने तक उसने दिल्ली में रहकर ढाबों में बर्तन धो। इसके बाद वह परेशान हो गया तो घर लौट आया। दरअसल, राजस्थान के सीकर जिले में पढ़ाई से परेशान एक छात्र परिजनों को बिना बताए दिल्ली भाग गया। दिल्ली में रुपए खत्म हो गए तो उसे ढाबों पर बर्तन साफ करने पड़े। जिससे परेशान होकर वह खुद ही घर लौट आया। बाल कल्याण समिति ने बच्चे को परिजनों को सौंप दिया है।

हवस इतनी कि... पेट में बच्चा होने के बावजूद भी बेबस महिला से कर दिया बलात्कार तो कहीं पर बहन बना कर किया घिनौना काम

जानकारी के अनुसार परिजनों ने बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा रखी थी। बच्चे के माता-पिता सरकारी शिक्षक है। उन्होंने अपने बच्चे को नीट की तैयारी के लिए कोचिंग भेज दिया। यहां पढ़ाई के दबाव के चले वह परेशान हो गया और हॉस्टल से भाग दिल्ली पहुंच गया। वह अपने साथ कुछ रुपए ले गया, जो वहां खर्च हो गए। स्थिति यह थी कि उसके पास खाने के पैसे भी नहीं थे। जिसके बाद होटलों-ढाबों में बर्तन साफ करने लगा। तीन महीने तक काम करने के बाद वह परेशान हो गया और खुद ही घर लौट आया। बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने पूछताछ की तो सामने आया कि बच्चा पढ़ाई के दबाव के चलते भाग गया था। उन्होंने परिजनों से बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव नहीं डालने की बात कही।

कोरोना वायरस: चीन के खिलौने, मोबाइल या कोई भी सामान खरीदने से पहले जरूर पढ़ लें ये खबर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned