पंजाब से सीकर पहुंचा, यहां से साधन नहीं मिला

सीकर से कोटा के लिए पैदल निकला परिवार

By: Suresh

Published: 27 Mar 2020, 06:23 PM IST

पलसाना. पंजाब से कोटा अपने घर जा रहे एक दिव्यांग एवं उसके परिवार को पंजाब से बीकानेर एवं फिर बीकानेर से सीकर तक पहुंचने के लिए तो साधन मिल गया और परिवार के साथ वो सीकर तक पहुंच गया, लेकिन सीकर से कोटा के लिए वाहन नहीं मिलने से दिव्यांग अपने परिवार के साथ पैदल ही कोटा के रवाना हो गया। बाद में अखैपुरा टोल बूथ पर पुलिस ने दिव्यांग और उसके परिवार को एक ट्रक में बैठाकर जयपुर के लिए रवाना किया।
जानकारी के अनुसार कोटा निवासी दिव्यांग सुरेश बागड़ी अपनी पत्नी एवं चार बच्चों के साथ पंजाब के भटिंडा में मजदूरी करने के लिए गया था। अब लॉकडाउन के दौरान काम धंधे बंद हो गए। सुरेश का बड़ा बेटा कोटा में ही रहता है और वो दादी के पास रहकर पढ़ाई कर रहा है। ऐसे में सुरेश काम धंधे बंद हो जाने से पंजाब से कोटा अपने गांव जाने के लिए निकला था। ऐसे में पहले तो जैसे तैसे कर बीकानेर पहुंचा और वहां से सीकर पहुंच गया। लेकिन सीकर में काफी इंतजार करने के बाद भी जब कोई वाहन नहीं मिला तो परिवार के साथ पैदल ही जयपुर के लिए रवाना हो गया। बाद में अखैपुरा टोल बूथ पर मजबूर दिव्यांग को देखा तो रानोली पुलिस के जवानों ने जयपुर की ओर जा रहे एक खाली ट्रक को रूकवाकर उसमें बैठाकर जयपुर तक तो भेज दिया है।
लॉकडाउन में अनुशासन में आती जिंदगी
नीमकाथाना : अधिक वूसली पर व्यापारियों पर होगी कार्रवाई
फतेहपुर. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए पुलिस ने नया प्रयास किया है। इसके तहत मेडिकल स्टोर, सब्जी और किराने की दुकान के सामने 1 मीटर की दूरी पर सर्कल बनाया गया है। जिसमें ग्राहक खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करेंगे। थानाअधिकारी उदय सिंह ने बताया कि एक मीटर की दूरी लॉकडाउन की सही मायने में पालना होगी।
खंडेला में धज्जियां
खंडेला. कस्बे में लॉकडाउन की खुलेआम धज्ज्यिां उड़ाते हुए स्वयं व अन्य की जिंदगी खतरे में डाली जा रही है। दुकानों पर भीड़ देखकर ऐसा नहीं लगता की लोगों को कोरोना वायरस का कोई भय है। प्रशासन लगातार समझाइस कर रहा है लेकिन लोग समझ नहीं रहे हैं। वहीं थानाधिकारी महेन्द्र कुमार मीणा का कहना है कि लोगों को समझाया जा रहा है कि विशेष जरूरत पर ही घर का कोई समझदार व्यक्ति बाहर आए। हालांकि दो दिन में एक कार व ३० बाइकों को सीज किया है।
श्रीमाधोपुर. लॉकडाउन की पालना के लिए पुलिस दिनभर बाजारों में लगी हुई है, पर राशन के नाम पर यर मेडिकल के नाम पर लोग बाजारों में घूमते रहे। ऐसे में पुलिस भी लाचार सी नजर आ रही है। बुधवार को भी बाजार में लोगो की खासी भीड़ देखी गई।
नीमकाथाना. लॉकडाउन में व्यापारी खाद्य सामग्री की रेट ज्यादा लगाकर शहरवासियों को लूट रहे हंै। प्रशासन को लगातार मिल रही शिकायत पर गुरुवार दोपहर को एसडीएम साधुराम जाट व तहसीलदार बृजेश गुप्ता ने बाजार में स्थित सभी किराणा स्टोर पर निरीक्षण किया। अधिकारियों ने व्यापारियों से दुकान के बाहर खाद्य सामग्री की लिस्ट चस्पा करवाई और दुकानों पर भीड़ नहीं हो इसके लिए तीन-तीन मीटर दूरी पर गोल घेरे बनाए। प्रशासन ने कहा कि उपभोक्ताओं से अधिक वसूली पर व्यापारियों पर कार्रवाई होगी। अधिकारियों ने किराना दुकानों पर सामान खरीद रहे उपभोक्ताओं से पैसे अधिक वसूल करने पर भी पूछा गया।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned