साहब! पेड़ के नीचे चल रहा है आंगनबाड़ी केन्द्र

नीमकाथाना में पंचायत समिति की साधारण सभा में पानी, बिजली व सड़क का मुद्दा छाया रहा
गणेश्वर में बिजली की सर्विस लाइन काटते है बंदर, हर्जाना भुगतना पड़ता है उपभोक्ताओं को
6-6 गांवों को मिलेगा जल जीवन मिशन योजना का फायदा

By: Suresh

Published: 08 Apr 2021, 05:36 PM IST

नीमकाथाना. पंचायत समिति की साधारण सभा की बैठक बुधवार को प्रधान मंजू यादव की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सरपंचों व पंचायत समिति सदस्यों ने पानी, बिजली व सड़क के मुद्दे पर अधिकारियों को घेेरा। जनप्रतिनिधियों का आरोप था कि अधिकारी उनकी सुनवाई नहीं करते हैं। इस पर विधायक सुरेश मोदी ने मामले को संभालते हुए कहा कि भविष्य में ऐसी फिर शिकायत नहीं आए आमजन की सुनवाई करना अधिकारियों की पहली प्राथमिकता है।
उन्होंने आगामी ग्रीष्मकाल में पेयजल किल्लत को ध्यान में रखते हुए पेयजल समस्याओं के निस्तारण पर त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया की नीमकाथाना के 6 6 गांवों में जल जीवन मिशन योजना की स्वीकृतियां जारी हो चुकी हैं। सुबह 11 बजे शुरू हुई बैठक में पंचायत समिति की साधारण सभा में वार्षिक कार्य योजना का अनुमोदन किया गया।
सरंपच जयसिंह भगोठ ने गांव नयाबासी में स्थित विद्यालय में एक पेड़ के नीचे चल रहे आंगनबाड़ी केन्द्र का मुद्दा उठाया। प.स. अवतार गुर्जर ने कहा कि गांव गणेश्वर में बंदर लोगों की सर्विस लाइन काट जाते है। सर्विस लाइन कटी होने से विद्युत विभाग वीसीआर भर जाने से हर्जाना उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। इसी प्रकार भूदोली सरपंच दिनेश जांगिड ने खान
मालिकों द्वारा सड़क पर मलबा नहीं डालने व बीच सड़क पर लगे हुए बिजली पोलों को हटाने की मांग उठाई। सदन में अनेक जनप्रतिनिधियों ने अपने-अपने क्षेत्र की समस्या उठाई। बैठक में उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता, तहसीलदार सतवीर यादव, एक्सईएन मायालाल सैनी, एक्सईएन रामसिंह यादव, बीसीएमचओ डॉ अशोक यादव, सीडीपीओ संजय चेतानी सहित विभागीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
उपखंड अधिकारी बृजेश कुमार गुप्ता ने नीमकाथाना व पाटन समस्त ग्राम पंचायत सरपंच, पंचायत समिति सदस्य एवं जिला परिषद सदस्यों से क्षेत्र के लोगों के ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन लगवाने की अपील की। उन्होने कहा सोशल डिस्टेंस की पालना एवं मास्क लगाना अनिवार्य है। ताकि ऐसी गंभीर बीमार से बचा जा सके। जो लोग बाहर से आ रहे हैं उन लोगों पर पूर्ण निगरानी रखें तथा उन लोगों को क्वारंटाइन करवाएं।
पाटन में पं.स में छाया रहा ओवरलोड डम्परों का मुद्दा
पाटन. पाटन पंचायत समिति की साधारण सभा की बैठक बुधवार को पंचायत समिति सभागार में विधायक सुरेश मोदी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। प्रधान सुवालाल सैनी ने बैठक की शुरुआत करते हुए क्षेत्र की समस्याओं की तरफ ध्यान आकर्षित करवाया। जिसमें पेयजल, सड़क परिवहन, विद्युत समस्या, मौसमी बीमारियों, निशुल्क दवा वितरण योजना, जननी शिशु सुरक्षा योजना पर चर्चा, वन पर्यावरण एवं खनन संबंधी चर्चा, प्रारंभिक शिक्षा, महिला एवं बाल विकास पर चर्चा, स्वच्छ भारत मिशन, पंचायती राज, नरेगा, व वार्षिक योजना 2021-22 का अनुमोदन किया गया। बैठक में ओवरलोड डम्परों का मुद्दा छाया रहा। जिसमें दलपतपुरा ग्राम पंचायत के सरपंच बलराम गुर्जर ने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई नहीं किए जाने से ओवरलोड वाहनों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। तथा इन ओवरलोड डम्परों के कारण ग्रामीण सड़क टूट कर बिखरने लगी है। जिस कारण गांव की मुख्य सड़कों पर गंदा पानी जमा होने लगा है। वहीं जिला परिषद सदस्य कैलाश बोपिया ने बताया कि परिवहन विभाग के अधिकारी ओवरलोड वाहनों के खिलाफ मुख्य सड़क पर कार्रवाई नहीं करते हैं। पंचायत समिति सदस्य कमलेश यादव ने भी बताया कि परिवहन विभाग के अधिकारी राजपुरा होटल के पास गाड़ी खड़ी कर ओवरलोड वाहनों से मंथली वसूलते हैं। जो वाहन मंथली नहीं देते उनके खिलाफ कार्रवाई कर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। इसका जवाब परिवहन निरीक्षक ने देते हुए बताया कि मार्च के महीने में 410 वाहनों के चालान काटे गए हैं, जिसमें डेढ़ करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ है।
विधायक मोदी ने परिवहन निरीक्षक से पूछा कि खनन क्षेत्र में जो ई-चालान काटते हैं तथा काटे गए ई-चालान के मुताबिक वाहनों में अधिक वजन होता है। क्या आप उन ई चालान के अनुसार कार्रवाई करते है या खनिज विभाग वालों को मौके पर बुलाते हैं। खनिज विभाग के विजिलेंस के सहायक अभियंता ने बताया कि वाहन नहीं होने के कारण हम लोग समय पर नहीं पहुंच पाते है। अगर वाहन उपलब्ध हो जाए तो क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन पर अंकुश लग सकता है। पंचायत समिति सदस्य संतोष कुमार गुर्जर ने पाटन में जलदाय विभाग के सहायक अभियंता कार्यालय खोलने की मांग रखी।
दिया ज्ञापन
सरपंच संघ अध्यक्ष सागर मल यादव के नेतृत्व में सरपंचों ने विधायक मोदी को ज्ञापन दिया। जिसमें वर्ष 2021- 22 के टेंडर के संबंध में लिखा गया है तथा पूर्व की टैंडर प्रणाली पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रणाली को बदल कर नई प्रणाली के तहत राशि एवं सामग्री दिलवाई जाए। ताकि हर ग्राम पंचायत में कार्य आसानी से हो सके। मीटिंग में उपखंड अधिकारी बृजेश कुमार गुप्ता, तहसीलदार सतवीर यादव, पंचायत समिति विकास अधिकारी रेखा रानी व्यास सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। सरपंच अध्यक्ष के नेतृत्व में सरपंचों ने बीडीओ राजूराम सैनी को ज्ञापन दिया। जिसमे भूदोली ग्राम सेवक को हटाने की मांग की।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned