हकीकत : इनके भरोसे रहे तो आपको भी मिल सकता है धोखा

चुनाव से पहले सीकर व शेखावाटी के पर्यटन स्थलों को जोड़कर शेखावाटी ट्यूरिज्म सर्किट घोषणा करने वाली सरकार अब अपने वादे से मुकर गई है।

dinesh rathore

02 Mar 2017, 11:31 AM IST

चुनाव से पहले सीकर व शेखावाटी के पर्यटन स्थलों को जोड़कर शेखावाटी ट्यूरिज्म सर्किट घोषणा करने वाली सरकार अब अपने वादे से मुकर गई है। खुद सत्ता पक्ष के विधायक ने बुधवार को विधानसभा में सवाल किया तो पर्यटन मंत्री ने चौंकाने वाला जवाब दिया।   उन्होंने जवाब में बताया कि किसी भी पर्यटन क्षेत्र को पर्यटन स्थल घोषित करने का कोई प्रावधान नहीं है। जबकि खुद सरकार के मंत्री सीकर में हर्ष सहित अन्य स्थलों को पर्यटन क्षेत्र की घोषणा कर रोपवे बनाने का भी एेलान कर चुके हैं। पर्यटन मंत्री ने जवाब में बताया कि विभाग किसी क्षेत्र विशेष को पर्यटन क्षेत्र घोषित नहीं करता है। पर्यटकों की आवाजाही से स्थल विशेष स्वत: ही पर्यटन स्थल बन जाता है। पिछले वर्ष खुद केन्द्रीय पर्यटन मंत्री ने जयपुर में हुए कार्यक्रम में हर्ष को राष्ट्रीय स्तर का पर्यटक स्थल बनाने की बात कही थी।



Read:

क्या! इस बार 60 करोड़ से भी ज्यादा देगी शराब, जानें कैसे



दावा: 324 करोड़ से करा दिए विकास कार्य


सीकर जिले के पर्यटन स्थलों में सुविधा बढ़ाने के सवाल पर बताया कि सीकर जिले में रामगढ़ शेखावाटी व सीकर की हवेलियों के संरक्षण, हैरिटेज कलस्टर, पोल व सड़क निर्माण सहित अन्य कार्यो पर 324 करोड़ रुपए खर्च हुए है। जबकि हकीकत यह है कि इस राशि से महज एक करोड़ के भी काम नहीं हुए है। सीकर जिला मुख्यालय पर तो कोई कार्य ही नहीं हुआ है।



Read:

यहां तीन घंटे चला शोले फिल्म का सीन, 'बसंती' नहीं इस बार नौकरी के लिए किया ड्रामा, देखें इस बार कौन बना वीरू



चुनाव से पहले ये घोषणा


सुराज संकल्प यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने हर्ष, जीणमाता, खाटूश्यामजी, शाकम्भरी व सालासर को जोडऩे के लिए शेखावाटी ट्यूरिज्म सर्किट बनाने का एेलान किया था। इसके तहत जयपुर सहित अन्य स्थानों से शेखावाटी के धार्मिक स्थलों के लिए विशेष बसों का संचालन होना था। वहीं इन पर्यटक व धार्मिक स्थलों को डवलप करने के लिए विशेष पैकेज देने की बात भी कही थी।



Read:

गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के तीन गुर्गे न्यायालय में पेश




जबकि खुद की किताब में 20 पर्यटन स्थल


पर्यटन की पुस्तक में शेखावाटी में 20 पर्यटन स्थल घोषित किए हुए है। इसमें हर्षनाथ, जीणमाता, लक्ष्मणगढ़, रामगढ़, फतेहपुर, खाटूश्यामजी, झुंझुनूं, मण्डावा, मुकन्दगढ़, डूण्डलोद, चूड़ी अजीतगढ़, नवलगढ़, बगड़, चिड़ावा व पिलानी और सालासर को पर्यटन स्थल घोषित किया।

Show More
dinesh rathore
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned